लाइव टीवी

छात्रों के प्रदर्शन पर बोले CPM नेता- आप JNU के VC हैं, तिहाड़ जेल के सुपरिंटेंडेंट नहीं

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 8:39 AM IST
छात्रों के प्रदर्शन पर बोले CPM नेता- आप JNU के VC हैं, तिहाड़ जेल के सुपरिंटेंडेंट नहीं
सीपीएम नेता मो. सलीम ने कहा कि सरकार शिक्षण संस्थानों की बजाय गौशाला पर पैसे खर्च कर रही है.

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के कुलपति (Vice Chancellor) पर सीपीआई (एम) के नेताओं ने हमला बोला है. इनका आरोप है कि जेएनयू के VC एम जगदीश कुमार (M Jagadesh Kumar) अभिव्यक्ति की आजादी (Freedom Of Speech And Expression) को दबाने की कोशिश कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 8:39 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के कुलपति (Vice Chancellor) पर सीपीआई (एम) के नेताओं ने हमला बोला है. इनका+ आरोप है कि जेएनयू के वीसी एम जगदीश कुमार (M Jagadesh Kumar) अभिव्यक्ति की आजादी (Freedom Of Speech And Expression) को दबाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि वह एक शिक्षण संस्था के मुखिया हैं न कि तिहाड़ जेल के अधीक्षक.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जेएनयू में प्रस्तावित फीस बढ़ोत्तरी को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों से मिलने के लिए सीपीएम नेता मोहम्मद सलीम और केके रागेश यूनिवर्सिटी कैंपस पहुंचे थे. यहां पर छात्रों को संबोधित करते हुए रागेश ने कहा, 'मुझे चांसलर ने मेल भेजा था कि आपको यहां नहीं आना चाहिए. कुलपति और प्रशासन को यह समझना चाहिए कि यह फासिस्ट हिंदू राष्ट्र नहीं है] बल्कि एक लोकतांत्रिक देश है.'

'आप यूनिवर्सिटी की विरासत को आगे ले जा रहे हैं'
रागेश ने आगे कहा, 'अभिव्यक्ति की आजादी हमारा मौलिक अधिकार है. कोई कुलपति इससे मना नहीं कर सकता. आपकी नियुक्ति जेएनयू कुलपति के तौर पर हुई है न की तिहाड़ जेल के अधीक्षक के रूप में.' वहीं, उन्होंने आंदोलनकारी छात्रों की हौसला अफजाई भी की. उन्होंने कहा कि आपने यूनिवर्सिटी की विरासत को आगे लेकर जा रहे हैं.

मोहम्‍मद सलीम ने लगाए गंभीर आरोप
मोहम्मद सलीम ने छात्रों द्वारा दीवार पर की गई पेंटिंग को जायज ठहराया. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फीस बढ़ाने की कई बार कोशिशें हुई हैं. यह देश के पब्लिक फंड से चलने वाले संस्थानों को खत्म करने की कोशिश है. सरकार शिक्षण संस्थान की बजाय गौशाला पर पैसे खर्च कर रही है. सलीम ने केंद्र की मोदी सरकार पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि अगर जेएनयू नहीं होता तो पीएम मोदी की कैबिनेट में कुछ पढ़े लिखे लोग भी नहीं होते.

ये भी पढ़ें-JNU बवालः अब VC ने की कार्रवाई, अपशब्द लिखने वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज

JNU में विवेकानंद की प्रतिमा के चबूतरे पर लिखी अभद्र टिप्पणी को NSUI ने मिटाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 8:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर