MHA का फैसला: लालू यादव, पप्पू यादव, संगीत सोम, चिराग पासवान की सुरक्षा में कटौती

गृह मंत्रालय ने बड़े नेताओं को मिलने वाली सुरक्षा की समीक्षा के बाद ये फैसला लिया. मंत्रालय के आदेश के बाद इन सभी नेताओं को अब सीआरपीएफ के जवानों की सुरक्षा नहीं दी जाएगी.

News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 3:53 PM IST
MHA का फैसला: लालू यादव, पप्पू यादव, संगीत सोम, चिराग पासवान की सुरक्षा में कटौती
गृह मंत्रालय ने बड़े नेताओं को मिलने वाली सुरक्षा की समीक्षा के बाद ये फैसला लिया. मंत्रालय के आदेश के बाद इन सभी नेताओं को अब सीआरपीएफ के जवानों की सुरक्षा नहीं दी जाएगी.
News18Hindi
Updated: July 23, 2019, 3:53 PM IST
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कई नेताओं को केंद्रीय सूची (सीआरपीएफ सुरक्षा प्राप्‍त) से हटा दिया है. इसमें राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सांसद सतीश चंद्र मिश्रा, यूपी बीजेपी के नेता संगीत सोम, बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी की सुरक्षा घटा दी गई है. यूपी सरकार के मंत्री सुरेश राणा, एलजेपी सांसद चिराग पासवान, पूर्व सांसद पप्पू यादव की सुरक्षा में भी कटौती की गई है.

गृह मंत्रालय ने बड़े नेताओं को मिलने वाली सुरक्षा की समीक्षा के बाद ये फैसला लिया. मंत्रालय के आदेश के बाद इन सभी नेताओं को अब सीआरपीएफ के जवानों की सुरक्षा नहीं दी जाएगी.



सेंट्रल लिस्ट से हटाए गए इन लोगों के नाम
Loading...

गृह मंत्रालय ने इसके अलावा सेंट्रल लिस्ट से कुछ जाने-माने लोगों के नाम भी हटा लिए हैं. इनमें अखबार 'पंजाब केसरी' के संपादक ए. के. मिन्हा और 'आनंद बाजार पत्रिका' के संपादक अवीक सरकार शामिल हैं. मिन्हा को दिल्ली के सिवा पूरे देश में सीआरपीएफ कवर मिला हुआ था, जिसे हटाकर उन्हें Z श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी.

अखिलेश से छिनी ब्लैक कैट कमांडो सुरक्षा
इससे पहले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को जेड प्लस श्रेणी के तहत मिली ब्लैक कैट कमांडो की सुरक्षा वापस लेने की भी सूचना मिली थी. सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हाल ही में सीआरपीएफ के तहत सुरक्षा प्राप्त वीआईपी लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा की. इसके बाद फैसला लिया गया कि सपा अध्यक्ष को दिया गया एनएसजी कवर वापस लिया जाए. हालांकि अभी इस पर फैसला नहीं हुआ है कि सुरक्षा हटाई जाएगी या घटाई जाएगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 3:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...