OPINION: मोदी सरकार के फैसले से दुनिया में बदल गई कश्मीर पर बहस

Anil Rai | News18Hindi
Updated: August 29, 2019, 12:51 PM IST
OPINION: मोदी सरकार के फैसले से दुनिया में बदल गई कश्मीर पर बहस
पीएम मोदी सरकार के फैसले से दुनिया में बदल गई कश्‍मीर पर बहस.

पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अन्तर्राष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर का मामला उठाकर उसे विवादित बताने पर जुटा रहता था लेकिन मोदी सरकार (Modi Government) के जम्मू-कश्मीर से धारा 35ए और अनुच्‍छेद 370 हटाने के फैसले के बाद पाकिस्तान अब पाक अधिकृत कश्मीर बचाने में जुटा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2019, 12:51 PM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर में धारा 35ए और अनुच्‍छेद 370 (Article-370) हटाए जाने के मोदी सरकार के फैसले ने पूरी दुनिया में इस इलाके की परिभाषा बदल दी है. पाकिस्तान जहां तब तक जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के रास्ते आंतकवादी (Terrorist) भेज पूरे भारत में आतकंवाद फैलाने की बात कर रहा था, आज वही पाकिस्तान दुनिया भर में जम्मू-कश्मीर में शांति स्थापित करने की बात कर रहा है.

पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अन्तर्राष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर का मामला उठाकर उसे विवादित बताने पर जुटा रहता था लेकिन मोदी सरकार (Modi Government) के जम्मू-कश्मीर से धारा 35ए और अनुच्‍छेद 370 हटाने के फैसले के बाद पाकिस्तान अब पाक अधिकृत कश्मीर बचाने में जुटा हुआ है. बिलावल भुट्टो जरदारी, मरियम नवाज शरीफ जैसे पाकिस्तान के विपक्ष में बैठे नेता कई बार ये बयान जारी कर चुके हैं कि भारत की नजर अब मुजफ्फराबाद पर है. साफ है जो बात भारत दुनिया के मंच पर बरसों से कह रहा था वही बात अब पाकिस्तान के नेता भी करने लगे हैं.

पाकिस्तान को सताने लगा पीओके (PoK) पर भारत के कब्जे का डर
भारत अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) को अपना बताता रहा है और पाकिस्तान पर उस हिस्से को खाली करने का दबाव भी बनाता रहा है. यहां तक कि लोकसभा और विधानसभा में पाक अधिकृत कश्मीर के इलाके की सीटें भी है और उन पर चुनाव नहीं होता है. साफ है पाक अधिकृत कश्मीर पर भले ही आज की तारीख में पाकिस्तान ने जबरन कब्जा जमा रखा है लेकिन ये इलाका भारत का है. भारत बार-बार इसका दावा भी करता रहा है लेकिन पहली बार पाकिस्तान के नेताओं ने भारत के दावे को गंभीरता से लिया है.

मोदी सरकार के फैसले के बाद बदल गई है दुनिया में कश्‍मीर पर बहस.
जम्मू-कश्मीर से धारा 35ए और अनुच्‍छेद 370 हटाने के फैसले के बाद पाकिस्तान अब पाक अधिकृत कश्मीर बचाने में जुटा हुआ है.


उन्हें अब ये डर सताने लगा है कि भारत पाक अधिकृत कश्मीर पर अपना कब्जा वापस ले सकता है. कुछ दिनों पहले मीडिया में ये खबरें भी आईं कि भारतीय जनता पार्टी पाक अधिकृत कश्मीर में चुनाव कराना चाहती है और उसकी तैयारी भी कर रही है. साफ है भारत सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तैयारी पूरी है और यही वो सबसे बड़ा डर है जो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को सता रहा है.

पीओके (PoK) पर मजबूत हुआ भारत का दावा
Loading...

दरअसल धारा 35ए और अनुच्‍छेद 370 हटाने के साथ ही जम्मू-कश्मीर में भारत के संविधान के साथ-साथ वो सारे नियम कानून लागू हो गए हैं जो भारत सरकार बनाती है. इसका सीधा और सरल मतलब है कि जम्मू-कश्मीर भी भारत का उसी तरह का हिस्सा है जिस तरह उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्य. भारत सरकार के अनुसार पाक अधिकृत कश्मीर भी भारत का हिस्सा है इसलिए अब उस इलाके में भी भारत का संविधान देश के अन्य हिस्सों की तरह लागू होगा. साफ है पाक अधिकृत कश्मीर पर कब्जा लेने के लिए फिलहाल मोदी सरकार भले ही सीधे-सीधे कुछ नहीं बोल रही हो लेकिन जम्मू- कश्मीर में 35ए और धारा 370 हटाने के बाद सरकार ने उस ओर ठोस कदम बढ़ा दिया है.

ये भी पढ़ें

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 11:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...