लाइव टीवी

दिवाली से पहले दिल्ली की हवा में घुला 'जहर', हालात और बिगड़ने की आशंका

News18Hindi
Updated: October 13, 2019, 2:07 PM IST
दिवाली से पहले दिल्ली की हवा में घुला 'जहर', हालात और बिगड़ने की आशंका
आनंद विहार में रविवार को AQI 292 दर्ज किया गया.

राष्ट्रीय राजधानी (New Delhi) की हवा में 'जहर' घुल गया है. पड़ोसी राज्य हरियाणा (Haryana) और पंजाब (Punjab) में पराली जलाने के कारण हवा की गुणवत्ता (Air Quality) पर असर पड़ रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2019, 2:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी (New Delhi) में रविवार की सुबह धुंध भरी रही. दिवाली (Diwali) से पहले ही यहां की हवा में 'जहर' घुल गया है. पड़ोसी राज्य हरियाणा (Haryana) और पंजाब (Punjab) में पराली जलाने के कारण हवा की गुणवत्ता (Air Quality) पर असर पड़ने की बात कही जा रही है. दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air Quality Index- AQI) 292 तक पहुंच गया, जो 'खराब' की श्रेणी में आता है. आने वाले दिनों में राजधानी के वायु प्रदूषण के और खराब होने की आशंका है. दिल्ली के आनंद विहार इलाके में सबसे अधिक एक्यूआई दर्ज किया गया है. यहां पर इसका स्तर 292 था. वहीं, बवाना में 288, अशोक विहार में 260 और बुराड़ी क्रॉसिंग पर इसका स्तर 262 दर्ज किया गया.

वहीं, हरियाणा में पड़ने वाले एनसीआर के इलाकों में AQI 350 के ऊपर तक पहुंच गया. यह बहुत खराब की श्रेणी है. रविवार को करनाल में AQI 351 दर्ज किया गया. वहीं गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा, बागपत, मुरथल में एक्यूआई क्रमश: 287, 233, 275, 258 और 245 दर्ज किया गया.

एक्यूआई का पैमाना
0 और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी का माना जाता है.

पड़ोसी राज्यों से निकलने वाला धुआं दिल्ली पहुंचने लगा है
शनिवार को, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पड़ोसी राज्यों में पराली के जलने से निकलने वाले धुआं दिल्ली पहुंचने लगा है और हवा की गुणवत्ता बिगड़ने लगी है. उन्होंने कहा, 'व्यापक रूप से कहा गया है कि दिल्ली में आने वाला धुआं हरियाणा के करनाल में पराली जलने के कारण आता है.'

15 तक दिल्ली के प्रदूषण का छह फीसदी हिस्सा बन जाएगा धुआं
Loading...

केंद्र सरकार द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (सफर) ने कहा कि पराली जलने से निकलने वाला धुआं 15 अक्टूबर तक दिल्ली के प्रदूषण का छह फीसदी हिस्सा बन जाएगा. ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान के 10 सदस्यीय कार्यबल ने शुक्रवार को पंजाब और हरियाणा से पराली जलने की घटनाओं और दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता पर इसके संभावित प्रभाव को लेकर एक बैठक आयोजित की थी.

ये भी पढ़ें-

...तो गुरुग्राम में भी लागू होगी ऑड-ईवन स्‍कीम, यह है प्‍लान

केजरीवाल का बड़ा ऐलान, ऑड-ईवन में CNG गाड़ियों को राहत नहीं, महिलाओं को छूट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 1:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...