लाइव टीवी

Delhi Anaj Mandi Fire: हाई कोर्ट पहुंचा मामला, CBI जांच की मांग पर सुनवाई आज


Updated: December 10, 2019, 10:10 AM IST
Delhi Anaj Mandi Fire: हाई कोर्ट पहुंचा मामला, CBI जांच की मांग पर सुनवाई आज
अनाज मंडी अग्निकांड में 43 लोगों की मौत हो गई. (PTI/फाइल फोटो)

Delhi Fire: फिल्‍मीस्‍तान के अनाज मंडी में लगी भीषण आग का मामला दिल्‍ली हाई कोर्ट में चला गया है्. इस बाबत दाखिल PIL में मामले की न्‍यायिक या CBI से जांच कराने की मांग की गई है.

  • Last Updated: December 10, 2019, 10:10 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली के फिल्‍मीस्‍तान इलाके में स्थित अनाज मंडी में रविवार तड़के
तकरीबन साढ़े चार बजे भीषण आग लग गई थी. इस हादसे में 43 लोग मारे गए थे, जबकि दर्जनों
अन्‍य घायल हो गए थे. अब यह मामला दिल्‍ली हाई कोर्ट पहुंच गया है. इस हादसे को लेकर हाई कोर्ट में जनहित याचिका (PIL) दाखिल की गई है. याची ने मामले की हाई कोर्ट के सेवानिवृत्‍त न्‍यायाधीश या (CBI) से जांच कराने की मांग की गई है. अदालत मंगलवार को इस पर सुनवाई करेगी.

अनाज मंडी अग्निकांड में मरने वालों में अधिकतर बिहार के रहने वाले हैं. बैग बनाने वाली एक फैक्‍ट्री में आग लगी थी. वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता अवध कौशिक ने जनहित याचिका दायर करते हुए सख्‍त दिशा-निर्देश बनाने को लेकर उचित निर्देश देने की भी मांग की गई है, ताकि भविष्‍य में इस तरह के हादसे को रोका जा सके. हाई कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि जिस मकान में बैग बनाने की फैक्‍ट्री थी वह अवैध है. याचिका में संबंधित अथॉरिटी पर भी सवाल उठाए गए हैं.

जनहित याचिका में वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता ने कहा कि अग्निकांड की यह घटना संबंधित अथॉरिटी की ओर से बरती गई लापरवाही का नतीजा है. अवध कौशिक ने इस आपराधिक कृत्‍य तक करार दिया है. बता दें कि अनाज मंडी में भीषण अग्निकांड के बाद आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर भी शुरू हो गया. इसके अलावा दिल्‍ली नगर निगम (MCD) पर भी गंभीर सवाल उठे हैं. आरोप है कि यह हादसा नगर निगम की लापरवाही का नतीजा है.

ये भी  पढ़ें: Delhi Fire: मैनेजर ने बाहर से जड़ दिया था फैक्ट्री पर ताला, आग लगने के बाद नहीं निकल सके मजदूरदिल्ली आग की दर्दनाक दास्तां: 'एक साल पहले हुई है शादी, प्लीज मुझे बचा लो' कहते-कहते थम गई सांसें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 9:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर