लोकसभा चुनाव: दिल्ली BJP की मांग- मस्जिदों में नियुक्त किए जाए विशेष पर्यवेक्षक

बीजेपी ने आयोग को पत्र लिखकर कहा, 'आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी के अन्य नेता धर्म और जाति के नाम पर मतदाताओं का धुव्रीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं.'

News18Hindi
Updated: March 16, 2019, 10:18 PM IST
लोकसभा चुनाव: दिल्ली BJP की मांग- मस्जिदों में नियुक्त किए जाए विशेष पर्यवेक्षक
बीजेपी दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: March 16, 2019, 10:18 PM IST
दिल्ली बीजेपी ने चुनाव आयोग से अपील की है कि मुस्लिम बहुल इलाकों में मौजूद मस्जिदों में पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की जाए. ताकि इन इलाकों में धार्मिक नेताओं द्वारा अपना उद्देश्य साधने के लिए किसी तरह की नफरत न फैलाई जा सके.

बीजेपी ने आयोग को पत्र लिखकर कहा, 'आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी के अन्य नेता धर्म और जाति के नाम पर मतदाताओं का धुव्रीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं.'

आयोग को दी गई शिकायत में यह भी कहा गया है कि अल्पसंख्यकों पर नफरत भरे बयान देकर हाल के दिनों में केजरीवाल कई विवादों से घिरे रहे हैं. चुनाव से पहले वे मुस्लिमों के वोटों का ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर सकते हैं. हमनें पर्यवेक्षक को नियुक्त करने की मांग इसलिए की है ताकि चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन न किया जा सके.



इससे पहले बीजेपी नेता राजीव बब्‍बर मानहानि मामले में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ शुक्रवार को समन जारी किया गया है. दिल्‍ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने केजरीवाल के अलावा अन्‍य लोगों को भी 30 अप्रैल तक कोर्ट में हाजिर होने के आदेश दिए हैं.

मनोहर पर्रिकर के दफ्तर ने अफवाहों को किया खारिज, कहा- गोवा सीएम की हालत स्थिर

बता दें कि राजीव बब्बर ने यह केस दिल्ली भाजपा की तरफ से दायर किया. इस याचिका में कहा गया कि केजरीवाल ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि उसने दिल्ली में मतदाता सूची से अग्रवाल मतदाताओं के नाम काटवा दिए हैं. एक संवैधानिक पद पर रहते केजरीवाल ने जो टिप्‍पणी की है इससे भाजपा की छवि खराब हुई है.

अमेरिका : महिला ने 9 मिनट में 4 लड़कों और 2 लड़कियों को दिया जन्म
Loading...

दरअसल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आठ दिसंबर 2018 को ट्वीट कर दावा किया था कि दिल्‍ली में अग्रवाल समाज के कुल आठ लाख वोट हैं. उनमें से लगभग चार लाख वोट भाजपा ने कटवा दिए? यानि 50 फीसदी. आज तक यह समाज भाजपा का कट्टर वोटर था. इस बार नोटबंदी और GST की वजह से ये नाराज हैं तो भाजपा ने इनके वोट ही कटवा दिए?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...