दिल्‍ली के गरीब स्‍टूडेंट्स के सपने पूरे करेगी केजरीवाल सरकार की ये योजना, अब मिलेगी इतनी मदद

Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 9:58 PM IST
दिल्‍ली के गरीब स्‍टूडेंट्स के सपने पूरे करेगी केजरीवाल सरकार की ये योजना, अब मिलेगी इतनी मदद
जय भीम CM प्रतिभा विकास योजना के विस्तार की कैबिनेट मंजूरी.

पिछले साल 4961 बच्चों ने दिल्‍ली सरकार की जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना का फायदा लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 9:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दिल्ली में रहने वाले बच्चे अब अपने सपनों को पूरा कर सकेंगे. जी हां, सपनों को पूरा करने में मदद करेगी दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार(Arvind Kejriwal Government). जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना (Jai Bhim Pratibha Vikas scheme) के तहत अब सभी जाति/वर्गों के गरीब बच्चे दिल्ली सरकार की मुफ्त कोचिंग (Free Coaching ) सुविधा का लाभ ले सकेंगे.

दिल्ली सरकार देगी 1 लाख रुपये की मदद
इस स्कीम के तहत केजरीवाल सरकार ने सहायता राशि को 40 हजार रुपये से बढ़ाकर 1 लाख रुपये तक कर दिया गया है. CM अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक में ये फैसला लिया गया है. दिल्ली में पैदा होने वाला कोई भी बच्चा पैसे की कमी की वजह से या गरीबी की वजह से आज इस प्रतिस्पर्धा के दौर में अच्छी शिक्षा पाने से वंचित ना रहे, इसीलिए इस योजना की शुरुआत की गई है. जबकि 12वीं तक की शिक्षा बिलकुल फ्री है.

सालाना आय 8 लाख रुपये से कम वालों को मिलेगा लाभ

दिल्ली सरकार का कहना है कि 12वीं के बाद जब बच्चा कॉलेज में जाता है तो उस पढ़ाई के लिए भी सरकार 10 लाख रुपये तक लोन देती है. अब तक कोचिंग के लिए अधिकतम 40 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती थी. ये योजना पिछले एक साल से चल रही है, लेकिन अच्छे कोचिंग इंस्टीट्यूट के लिए 40 हजार रुपये कम पड़ते हैं. अब इस राशि को 40 हजार रुपये से बढ़ाकर 1 लाख रुपये तक करने का फैसला लिया गया है. इसके साथ ही यह योजना सबके लिए लागू होगी. अब इस योजना का लाभ एससी स्टूडेंट्स, ओबीसी स्टूडेंट्स और आर्थिक दृष्टि से कमजोर सामान्य श्रेणी के स्टूडेंट्स को मिलेगा.

दिल्ली का कोई बच्चा अच्छी शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा
अरविंद केजरीवाल सरकार का कहना है कि कई बार गरीब परिवारों में पैदा होने वाले बच्चे भी बहुत बुद्धिमान होते हैं, लेकिन अच्छी कोचिंग के अभाव में ये उन बच्चों से पिछड़ जाते हैं जिनके परिवारों की आर्थिक स्थिति अच्छी होती है. इसी तरह से ग्रेजुएशन के बाद स्टूडेंट्स को सिविल सर्विसेस, रेलवे, एसएससी के एग्जाम देने होते हैं, उनमें भी गरीब बच्चे पिछड़ जाते हैं. हम नहीं चाहते कि कोई भी बच्चा अपनी गरीबी के कारण किसी भी एग्जाम में पिछड़ जाए.
Loading...

कोचिंग सेंटर के साथ भी सरकार ने किया एग्रीमेंट
सरकार ने कई कोचिंग इंस्टीट्यूट्स के साथ एग्रीमेंट किया है और उनका एक पैनल बना दिया गया है. कोचिंग इंस्टीट्यूट्स ने सरकार को काफी सस्ते रेट्स ऑफर किये हैं. इन कोचिंग इंस्टीट्यूट्स में किसी बच्चे का एडमिशन होता है, तो सरकार कोचिंग इंस्टीट्यूट्स को पैसा दे देगी. कुछ इंस्टीट्यूट्स ऐसे भी हैं जो सामने नहीं आए, जिन्होंने सरकार के साथ एग्रीमेंट नहीं किया है, लेकिन अगर ऐसे इंस्टीट्यूट्स में भी किसी बच्चे एडमिशन होता है, तो इस लिमिट तक की सहायता राशि सीधे बच्चे को मुहैया करा देंगे. इस योजना की एक शर्त ये है कि बच्चा 10वीं और 12वीं दिल्ली से उत्तीर्ण हुआ हो. साथ ही उसके परिवार की सालाना आय 8 लाख रुपये से कम होनी चाहिए.

4961 बच्चों ने उठाया था इस स्कीम का फायदा
पिछले साल 4961 बच्चों ने इस स्कीम का फायदा लिया था. 3280 बच्चों ने एसएससी की कोचिंग ली. 944 बच्चों ने यूपीएससी की कोचिंग ली. जबकि 729 बच्चों ने अन्य प्रोफेशनल कोर्सेस के लिए कोचिंग ली.

शिक्षा से ही होगा देश और परिवार का विकास
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि शिक्षित युवा देश का विकास कर सकते हैं. जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना बहुत महत्वपूर्ण योजना है. मुझे खुशी है कि बाबासाहेब अम्बेडकर के नाम पर ये योजना चलाई जा रही है. बाबासाहेब का सपना था कि अगर बच्चों को अच्छी शिक्षा दे दी जाएगी तो एक पीढ़ी के अंदर इस देश से गरीबी और पिछड़ापन दूर किया जा सकता है.

इस योजना को लेकर दिल्ली के सोशल वेलफेयर मिनिस्टर राजेंद्र पाल गौतम ने अपने ट्वीट में लिखा, 'मुझे खुशी है कि जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना बाबासाहेब अम्बेडकर के नाम से चल रही है.'

ये भी पढ़ें-BJP-कांग्रेस के लिए चुनौती बना है 'आई लव केजरीवाल' कैंपेन, गोपाल राय ने कही ये बात

कैबिनेट बैठक के फैसले: IDBI बैंक को मिलेंगे 9257 करोड़ रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 9:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...