लाइव टीवी

मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर कसा तंज, बोले- CM विदेश में अपना झूठ परोसने जा रहे हैं

Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: September 23, 2019, 10:18 PM IST
मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर कसा तंज, बोले- CM विदेश में अपना झूठ परोसने जा रहे हैं
मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर साधा निशाना.

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) दिल्ली से प्रदूषण कम करने के अपने फॉर्मूले बताने के लिए सी-40 समिट (C-40 Summit) के लिए डेनमार्क (Denmark) जा रहे हैं. इस पर तंज कसते हुए भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (BJP Delhi Pradesh President Manoj Tiwari) ने कहा कि अब वो विदेशों में अपना झूठ परोसने जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2019, 10:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) दिल्ली से प्रदूषण कम करने के अपने फॉर्मूले बताने के लिए सी-40 समिट (C-40 Summit) के लिए डेनमार्क (Denmark) जा रहे हैं. इस विदेशी दौरे को पूरी तरह से झूठ पर आधारित बताते हुए भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (BJP Delhi Pradesh President Manoj Tiwari) ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण कम करने को लेकर केन्द्र सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाए, जिसके बाद केन्द्रीय प्रदूषण नियामक बोर्ड ने स्वंय कहा है कि दिल्ली से प्रदूषण 25 प्रतिशत कम हुआ है. केन्द्र सरकार के प्रयासों व दिल्ली के सभी सांसदों की मेहनत ने दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, लेकिन बीते 55 महीनों में खुद काम न करने वाले केजरीवाल ने प्रदूषण को लेकर कोई एक्शन प्लान नहीं बनाया. अकर्मण्यता और निष्क्रियता से भरी केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण को लेकर जनता को गुमराह करने के अलावा कुछ नहीं किया.

माननीय न्यायलय ने दबाव दिया तो केजरीवाल ने कहा कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलने से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है. जबकि केन्द्र सरकार ने योजना बनाकर किसानों को खेतों से पराली निस्तारण के लिए प्रेरित किया जिसके कारण दिल्ली से प्रदूषण का स्तर कम करने में सहायता मिली. सी-40 शिखर सम्मेलन 9-12 अक्टूबर के बीच डेनमार्क के कोपेनहेगन में आयोजित हो रहा है.

केजरीवाल सरकार के सारे प्रयास विफल साबित
मनोज तिवारी ने कहा कि बार-बार जनता को महंगे विज्ञापनों के माध्यम से गुमराह करने का काम केजरीवाल सरकार ने किया है. प्रदूषण को कम करने को लेकर केजरीवाल सरकार के सारे प्रयास विफल साबित हुए हैं. केजरीवाल आज तक प्रदूषण को लेकर दिल्ली की जनता को भ्रमित करते आए हैं और अब वो विदेशों में अपना झूठ परोसने जा रहे हैं. केजरीवाल दिल्ली की जनता को क्यों नहीं बताते कि दिल्ली से प्रदूषण कम करने को लेकर उन्होनें क्या कदम उठाये हैं. आम आदमी पार्टी के मुखिया जानते हैं कि जनता ने उनकी पार्टी को 2015 के बाद किसी भी चुनाव में समर्थन नहीं दिया है, जिसका मुख्य कारण 70 वादे कर 70 झूठ बोलना और एक भी वादे को पूरा न करना है. दूसरे के कामों का श्रेय लेना, खुद काम न करना और कोई करे तो उसमें बाधा डालना. अपनी नाकामियों का आरोप दूसरों पर जड़ने में माहिर केजरीवाल अब अपनी झूठ की दुकान दुनिया के सामने लगाने चले हैं.

केन्द्र सरकार के अथक प्रयास से प्रदूषण को कम
यही नहीं भाजपा के दिल्‍ली प्रदेश अध्‍यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल दुनिया को सत्य से अवगत कराएं कि कैसे केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा कराए गये ऐतिहासिक विकास कार्यों के कारण आज दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम हो रहा है. केन्द्र सरकार के अथक प्रयास से प्रदूषण को कम करने के लिए बीएस-6 के पेट्रोल-डीजल वाहन की शुरुआत होने जा रही है. बीएस-6 वाहनों के लिए दिल्ली में पेट्रोल मिलना शुरू हो गया है. ये वाहन 1 अप्रैल, 2020 से मिलने शुरू हो जायेंगे. बीएस-6 वाहनों के आने से दिल्ली में वाहन प्रदूषण में 80 प्रतिशत कमी आएगी. मोदी सरकार ने 135 किलो मीटर का ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे (गाजियबाद, नोएडा फरीदाबाद, पलवल एवं कुंडली) एवं 135 किलो मीटर वेस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे (कुंडली, बहादुरगढ़, गुरूग्राम, पलवल) का निर्माण किया और मेरठ एक्सप्रेस-वे के एक चरण का निर्माण हो गया है और दूसरे चरण का भी अगले 4 महीनों में निर्माण पूरा हो जाएगा. एक्सप्रेस-वे बनने से दिल्ली में लगभग 60 हजार वाहन आना बंद हो गए हैं. इसके अलावा केन्द्र सरकार ने जहरीला धुआं फैला रही फेक्ट्रियों को चिन्हित कर उनके साथ सख्ती बरती जिसके कारण प्रदूषण में कमी आई है.

यह भी पढ़ें: सोनिया से मिलने के बाद चिदंबरम बोले- हार नहीं मानूंगा, PM के लिए कही ये बात
Loading...

1984 सिख विरोधी दंगा: SIT के सामने पेश हुआ गवाह, कहा- कमलनाथ के खिलाफ गवाही देने को तैयार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 23, 2019, 10:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...