ट्रैफिक चालान में कटौती करने के मूड में केजरीवाल सरकार, जल्द लेगी फैसला

News18Hindi
Updated: September 11, 2019, 7:11 PM IST
ट्रैफिक चालान में कटौती करने के मूड में केजरीवाल सरकार, जल्द लेगी फैसला
दिल्ली वालों को केजरीवाल जल्द दे सकते हैं ये तोहफा

जानकारों का कहना है कि मोटर व्हीकल एक्ट में 61 ऑफेंस हैं जिनमें से 27 मामलों में राज्य सरकार कुछ नहीं कर सकती लेकिन 34 मामलों में राहत मिल सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2019, 7:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle act 2019) के तहत दिल्ली में जिस तरह से जुर्माना (चालान) वसूल किए जा रहे हैं उससे आम लोगों में खासी नाराजगी है. ऐसे में खबर है कि केजरीवाल सरकार जल्द ही जुर्माने की राशि को कम कर सकती है. जानकारों का कहना है कि मोटर व्हीकल एक्ट में 61 ऑफेंस हैं जिनमें से 27 मामलों में राज्य सरकार कुछ नहीं कर सकती. लेकिन 34 मामलों में कंपाउंडिंग एमाउंट में रिलीफ मिल सकती है.

इस बात की जानकारी दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने एक न्यूज़ चैनल को दी. कैलाश गहलोत ने कहा
मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर अभी हम जांच कर रहे हैं, जरूरत पड़ी तो चालान का एमाउंट कम करेंगे. गुजरात में चालान का एमाउंट कम करने की खबर आई है लेकिन उसका अभी कोई नोटिफिकेशन नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि दिल्ली के 941 प्रदूषण जांच केंद्रों का समय सुबह सात से रात 10 बजे तक कर दिया गया और सर्वर भी बढ़ाया गया है जिससे कि इन केंद्रों पर भीड़ कम हो सके.


दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि वाहन प्रदूषण की जांच कराने में लोगों को 6 से 7 घंटे का समय लग रहा है, इसलिए सर्वर की क्षमता बढ़ा दी गई है. पहले एक घंटे में 3200 PUC की क्षमता थी जिसे अब 6,000 कर दी गई है. आज के बाद पीयूसी की समस्या कम होनी चाहिए. पहले जहां रोजाना 15,000 पीयूसी हो रहे थे अब करीब 45 हजार हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि पीयूसी केंद्र बढ़ाने के लिए एप्लीकेशन (आवेदन) मंगवा रहे हैं. डीटीसी के टर्मिनल और डिपो में भी अब आम लोग PUC करवा सकते हैं.

जांच की क्षमता 15 हज़ार गाड़ियां से बढ़कर 45 हज़ार हुईं 

कैलाश गहलोत ने आगे कहा कि एक सितंबर से मोटर व्हीकल एक्ट के तहत नोटिफिकेशन पॉल्यूशन चेकिंग सेंटर पर लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं. दिल्ली की सड़कों पर 73 लाख व्हीकल रहते हैं. जांच की क्षमता 15 हज़ार गाड़ियां से बढ़कर 45 हज़ार हो गई है. यह संख्या लगातार बढ़ रही है. पॉल्युशन चेकिंग के लिए 941 सेंटर हैं. कुछ सेंटरों में गलत काम भी हुआ. दो सेंटर सस्पेंड भी किए गए हैं. अगर शिकायत मिली तो कार्रवाई होगी. 10 दिन में 941 सेंटरों का समय सुबह सात से रात 10 बजे तक कर दिया है.

साथ ही सर्वर भी बढ़ाया गया है. एक घंटे में 3200 आवेदन ही ले सकते थे उसे अब बढ़ाकर 6,000 किया गया है. इससे हालात बेहतर हो जाएंगे. ज्यादा पॉल्युशन सेंटर भी खोलने के लिए आवेदन मांगे गए हैं. डीटीसी टर्मिनल में बसों की चेकिंग जहां होती है वहां भी सुबह 11 बजे से शाम सात बजे तक सुविधा दी जाएगी. जहां भीड़ ज्यादा है वहां क्राउड मैनेजमेंट के लिए सिविल डिफेंस वर्कर तैनात किए जाएंगे.

ये भी पढ़ें:
Loading...

नितिन गडकरी के घर के बाहर युवा कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस पर उछाला स्कूटर

सुप्रीम कोर्ट ने धार्मिक विवाह पर कहा- हम महिला का सुरक्षित भविष्य चाहते हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 5:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...