बच्चे की मौत के मामले में दिल्ली की अदालत ने 5 डॉक्टरों को भेजा समन

भाषा
Updated: August 27, 2019, 4:36 PM IST
बच्चे की मौत के मामले में दिल्ली की अदालत ने 5 डॉक्टरों को भेजा समन
सांकेतिक तस्वीर

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अनुज अग्रवाल ने दो अलग-अलग निजी अस्पतालों के चार डॉक्टरों तथा इनमें से एक अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक को आईपीसी 304 (गैर इरादतन हत्या) के तहत समन जारी किया.

  • Share this:
दिल्ली की एक अदालत (Delhi Court) ने 2012 में पांच डॉक्टरों की कथित लापरवाही (Negligence) की वजह से 10 महीने के एक बच्चे की मौत के मामले में उन्हें समन किया है. अदालत ने कहा कि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (Medical Council of India/एमसीआई) ने भी इन डॉक्टरों के नाम तीन महीने के लिए उसके रजिस्टर से हटाने का आदेश दिया है.

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अनुज अग्रवाल ने दो अलग-अलग निजी अस्पतालों के चार डॉक्टरों तथा इनमें से एक अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक को आईपीसी 304 (गैर इरादतन हत्या) के तहत समन जारी किया. अदालत का यह समन बच्चे की मां रेणू त्यागी की ओर से दायर शिकायत के आधार पर जारी किया है. त्यागी ने आरोप लगाया कि डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से उनके बच्चे की मौत हुई. उन्होंने दावा किया कि डॉक्टरों ने इलाज के नाम पर उनसे भारी रकम वसूली लेकिन अपनी ड्यूटी सही से नहीं निभायी.

अदालत ने अपने आदेश में कहा कि मामले में निष्कर्षों के आधार पर एमसीआई की आचार समिति ने गांधीनगर में जैन चैरिटेबल ट्रस्ट हॉस्पिटल के डॉक्टर ओम प्रकाश और डॉ. राकेश त्यागी तथा प्रीत विहार में तनेजा हॉस्पिटल के चिकित्सा अधीक्षक को दोषी पाया. हालांकि समिति ने तनेजा हॉस्पिटल के डॉक्टर राकेश कुमार जैन और डॉ. शेफाली चौहान के आचरण के बारे में चुप्पी साध ली, लेकिन उसने एमसीआई रजिस्टर से उनके नाम हटाने का निर्देश दिया. उसने इस तथ्य को बताया कि उनका पेशेवर आचरण मेडिकल प्रोटोकॉल के मुताबिक नहीं था.

अदालत ने आचार समिति की रिपोर्ट पर विचार नहीं करने पर जांच अधिकारियों की खिंचाई भी की. मजिस्ट्रेट ने कहा कि वह पुलिस अधिकारियों के 'निष्क्रिय' रहने से आहत हैं.

ये भी पढ़ें-

CM केजरीवाल ने किए पानी के बिल माफ, BJP प्रवक्ता ने कसा तंज

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी की 8वीं कटऑफ जारी, कुछ सीटें अब भी खाली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 4:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...