रविदास मंदिर: 40 करोड़ लोगों की आस्था के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाएगी दिल्ली सरकार

समाज कल्याण मंत्री ने बताया कि रविदास मंदिर (Ravidas Temple) कानून-व्यवस्था और 40 करोड़ लोगों की आस्था का विषय है. वे अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में याचिका दाखिल करने की कोशिश करेंगे.

News18Hindi
Updated: August 25, 2019, 5:43 PM IST
रविदास मंदिर: 40 करोड़ लोगों की आस्था के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाएगी दिल्ली सरकार
संत रविदास मंदिर के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाने की तैयारी कर रही है केजरीवाल सरकार. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 25, 2019, 5:43 PM IST
तुगलकाबाद में संत रविदास (Ravidas Temple) का ऐतिहासिक मंदिर तोड़े जाने का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. अगले साल की शुरुआत में दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनावों के कारण राजनीतिक दल इस मुद्दे पर सक्रियता दिखा रहे हैं. दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार मंदिर मामले में पार्टी बनने के प्रयास में जुट गई है. समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने मीडिया को बताया कि रविदास मंदिर कानून-व्यवस्था और 40 करोड़ लोगों की आस्था का विषय है. राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि वे अपने वकीलों से चर्चा कर रहे हैं. उसके बाद वे अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने की कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा कि अदालत को बताया जाएगा कि मंदिर तोड़े जाने संबंधी मुकदमे में सही तथ्य नहीं रखे गए हैं. रविदास मंदिर आजादी के पहले से सरकारी दस्तावेजों में दर्ज है.

मंदिर बनने दिया जाए, दिल्ली सरकार उससे अधिक जंगल बनाकर देगी
मंत्री गौतम ने कहा कि, “वे खुद वकील हैं और कानून के मुताबिक यदि कोई कहीं 30 साल से अधिक समय से काबिज है, तो उस जमीन या भवन का मालिक बन जाता है. अगर इसी जजमेंट को फॉलो करेंगे, तो देशभर में कोई जमीन का मालिक नहीं बन पाएगा. सुप्रीम कोर्ट में कहेंगे कि संत रविदास का मंदिर बनने दिया जाए, दिल्ली सरकार उससे अधिक जंगल बनाकर देगी.

कुछ लोगों के हिंसा करने पर 96 लोगों को पकड़ना ठीक नहीं है

रविदास मंदिर तोड़े जाने के खिलाफ भीम आर्मी के आह्वान पर रामलीला मैदान तक 22 अगस्त को मार्च निकाला गया था. शाम को दक्षिण दिल्ली में प्रदर्शनकारियों के बीच से कुछ शरारती तत्वों ने तोड़-फोड़ और हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया. इस पर मामले में राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि, दिल्ली पुलिस ने जिन 96 लोगों को गिरफ्तार किया है, उसमें कई बेकसूर शामिल हैं. पुलिस ने उन सभी को पकड़ लिया है जिन्होंने सिर पर नीली टोपी, गले में नीला पटका, बाबा साहेब आंबेडकर या संत रविदास की चित्र वाली टी-शर्ट पहनी थी. कुछ लोगों के हिंसा करने पर 96 लोगों को पकड़ना ठीक नहीं है. पुलिस के पास विडियो है तो चेहरे मिलाकर दोषियों की पहचान करें. उन्होंने कहा कि वे जेल में जाकर सभी से मुलाकात करेंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 5:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...