'पौधे लगाओ तो बंद कर देंगे बिजली चोरी का केस', दिल्ली HC ने सुनाया अनोखा फैसला

न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा ने बिजली चोरी के मामले को बंद करने की बात स्वीकार करते हुए कहा कि अगर आरोपित सामाजिक सेवा के तहत 50 पौध लगाए तो उसका मुकदमा बंद कर दिया जाएगा.

News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 11:53 AM IST
'पौधे लगाओ तो बंद कर देंगे बिजली चोरी का केस', दिल्ली HC ने सुनाया अनोखा फैसला
प्रतीकात्मक फोटो
News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 11:53 AM IST
दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने एक बार फिर जागरूक करने के साथ ही पर्यावरण के प्रति जनता को जिम्मेदारी का अहसास कराने का प्रयास किया है. दरअसल न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा ने बिजली चोरी के मामले को बंद करने की बात स्वीकार करते हुए कहा कि अगर आरोपित सामाजिक सेवा के तहत 50 पौध लगाए तो उसका मुकदमा बंद कर दिया जाएगा.

ये सभी पौधे एक महीने के अंदर लगाकर उप-वन संरक्षक को रिपोर्ट देनी होगी. उसे यह पौधे केंद्रीय वन क्षेत्र, बुद्धा जयंती पार्क और वंदे मातरम मार्ग पर लगाने होंगे. पौधों की उम्र कम से कम तीन साल और लंबाई छह फीट होने के साथ ही इसकी प्रजाति अलग-अलग होनी चाहिए. इसमें गूलर, पिलखन, जामुन, बरगद, आम, महुआ, सागौन समेत अन्य प्रजाति शामिल हैं.

पीठ ने आरोपित व्यक्ति और वन विभाग को आदेश का अनुपालन करने के बाद शपथ पत्र दाखिल करने को कहा है. आदेश का अनुपालन नहीं करने पर दोबारा मुकदमा शुरू किया जाएगा. पीठ ने वन विभाग के अधिकारी को इन पौधों का छह महीने तक रखरखाव करने के निर्देश दिए. साथ ही कहा कि छह महीने के बाद उस समय के फोटो अदालत में पेश करें.

यह है आरोप

व्यक्ति ने सार्वजनिक पोल से अलग से अपनी दुकान में कनेक्शन लिया था. आरोपी ने कोर्ट में कहा कि उसने दुकान किराये पर दी थी और बिजली के बिल का भुगतान नहीं करने के कारण कनेक्शन काट दिया गया था. किरायेदार ने बगैर उसकी जानकारी के बिजली चोरी की थी. इस मामले में किरायेदार के खिलाफ भी कार्रवाई की गई. उसे आरोपी बनाया गया था क्योंकि बिजली चोरी उसकी सहमति से हो रही थी. मध्यस्थता के दौरान आरोपी और बिजली विभाग के बीच 18267 रुपये का भुगतान करने को लेकर समझौता हो गया था. इसके बाद मुकदमा समाप्त करने के लिए याचिका दायर की गई थी.

ये भी पढ़ें -

 बच्चा चोरी के आरोप में महिला को पीटा, नौ गिरफ्तार
Loading...

बदायूं के जिला महिला अस्पताल में 32 बच्चों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 12, 2019, 11:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...