लाइव टीवी

तीस हजारी कोर्ट झड़प मामलाः पहले केंद्र, दिल्ली सरकार और बार काउंसिल को नोटिस भेज हाईकोर्ट ने दिखाई तल्‍खी, फिर कहा- दोनों पक्ष करें सुलह

News18Hindi
Updated: November 3, 2019, 4:20 PM IST
तीस हजारी कोर्ट झड़प मामलाः पहले केंद्र, दिल्ली सरकार और बार काउंसिल को नोटिस भेज हाईकोर्ट ने दिखाई तल्‍खी, फिर कहा- दोनों पक्ष करें सुलह
हाईकोर्ट ने कहा है कि हम चाहते हैं दोनों पक्ष आपस में सुलह करें और मामले को खत्म करें. (फाइल फोटो)

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High court) के सीजेआई (CJI) ने दोनों पक्षों से सुलह को लेकर भी बात की. सीजेआई और दिल्ली पुलिस कमिश्नर (Delhi Police Commissioner) के बीच इस मामले को लेकर बैठक भी हुई. दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ अब तक चार एफआईआर (FIR) दर्ज कराई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2019, 4:20 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) परिसर में पुलिस और वकीलों (Police-Lawyers) के बीच मारपीट मामले में एक बार तो हाईकोर्ट काफी सख्त होता दिखाई दिया. मामले का संज्ञान खुद मुख्य न्यायाधीश ने लिया. फिर केंद्र, दिल्ली सरकार, बार काउंसिल ऑफ इंडिया और दिल्ली की निचली अदालतों के बार काउंसिल को नोटिस जारी कर दिया गया. वहीं दूसरी तरफ कोर्ट का नरम रुख भी देखने को मिला. कोर्ट ने सभी पक्षों से मिलजुलकर मामले को खत्म करने को कहा. कोर्ट ने कहा कि हम चाहते हैं कि सभी पक्ष मिल कर मामला खत्म करें. दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीएन पाटिल ने इस संबंध में दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से भी मुलाकात की.

वकीलों ने किया कार्य बहिष्कार
झड़प के बाद से ही दिल्ली पुलिस और बार काउंसिल आमने-सामने हो गए हैं. गुस्साए वकीलों ने सोमवार को काम का बहिष्कार करने का ऐलान किया है. मामले की गंभीरता को देखते हुए दोनों पक्षों में समझौता करवाने की कोशिशें जोरों पर हैं. इसी के चलते पुलिस कमिश्नर और हाईकोर्ट सीजेआई ने मुलाकात भी की थी. वहीं, दिल्ली बार काउंसिल के अध्यक्ष के सी मित्तल ने कहा कि हम इस पूरे मामले की कड़ी निंदा करते हैं. पुलिस के हमले में एक वकील गंभीर तौर पर घायल हो गया जिसकी हालत नाजुक है. वहीं हवालात में भी एक वकील को पीटा गया. पुलिस ने लापरवाही दिखाई है. आरोपियों को बर्खास्त करना चाहिए और मुकदमा चलाना चाहिए. उन्होंने कहा कि हम दिल्ली पुलिस के वकीलों के साथ खड़े हैं.

दमकल विभाग के मुताबिक तीस हजारी कोर्ट में कॉल मिलने पर 4 गाड़ियां मौके पर भेजी गई हैं.

दमकल की 4 गाड़ियां मौके पर भेजी गई हैं.

अब तक चार एफआईआर दर्ज
तीस हजारी कोर्ट झड़प मामले में अब तक कुल चार एफआईआर दर्ज की गई है. पहली, दिल्ली पुलिस के खिलाफ वकीलों की शिकायत पर, दूसरी- वकीलों के खिलाफ दिल्ली पुलिस की शिकायत पर, तीसरी- दुर्व्यवहार और अनुचित इशारों के लिए दिल्ली पुलिस के खिलाफ एक महिला वकील की शिकायत पर (354) और चौथी- अराजकता व खराब स्थिति के खिलाफ जिला जज की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है. विवाद थमने के बाद दोनों पक्षों के बीच देर शाम तक बैठक का दौर जारी रहा. मामले की गंभीरता को दखते हुए जांच क्राइम ब्रांच की एसआईटी को सौंप दी गई है.
Loading...

इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस और बार काउंसिल आमने-सामने हो गए हैं.

इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस और बार काउंसिल आमने-सामने हो गए हैं.

एक अफवाह और बेकाबू हुए हालात
बता दें कि दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) में शनिवार दोपहर पुलिस (Police) और वकीलों (Lawyers) के बीच झड़प (Scuffle) हुई थी. दोनों पक्षों में हंगामा इतना बढ़ गया कि 28 पुलिसकर्मी और वकील गंभीर रूप से घायल हो गए. बताया जाता है कि अफवाह थी कि पुलिसवालों की गोली से एक वकील की मौत हो गई है. इस अफवाह के बाद वकील बेकाबू हो गए और पुलिसकर्मियों के साथ उनकी झड़प हो गई. इस हंगामें में 17 वाहन क्षतिग्रस्त हो गए.

ये भी पढ़ेंः एक अफवाह ने तीस हजारी कोर्ट में करा दिया इतना बड़ा तांडव, घंटों सुलगी दिल्ली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2019, 1:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...