लाइव टीवी

पर्यावरण की सुरक्षा और ईंधन की बचत के लिए कल से शुरू होंगे टैक्सी बोट

News18Hindi
Updated: May 29, 2019, 3:22 PM IST

पर्यावरण सुरक्षा के लिए इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर मंगलवार से टैक्सी बोट की सुविधा शुरू होने जा रही है.

  • Share this:
पर्यावरण सुरक्षा के लिए इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर मंगलवार से टैक्सी बोट की सुविधा शुरू होने जा रही है. दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट ने सोमवार को कहा कि टैक्सी बोट्स के कॉमर्शियल आपरेशन की शुरुआत के लिए हम तैयार हैं. टैक्सी बोट के जरिए टर्मिनल गेट से विमान को खड़ा करने के लिए पार्किग बे पर बेहद आसानी के साथ ले जाया जा सकेगा. इस दौरान विमान का इंजन बंद रहेगा जिससे ईंधन की खपत को कम किया जा सकेगा.

टैक्सीबोट एक सेमी रोबोटिक एयरक्राफ्ट ट्रैक्टर है जिसके जरिए विमान को टर्मिनल गेट से टेक ऑफ वाली जगह तक ले जाया जा सकेगा. अत्याधुनिक तकनीक से बनी इस टैक्सी बोट में अन्य सुविधाएं भी होंगी, जिनसे विमान को बेहतर तरीके से खड़ा करने में मदद मिलेगी.

क्या है वर्तमान व्यवस्था

अभी जो व्यवस्था है उसके मुताबिक यात्रियों के उतर जाने के बाद पायलट विमान को पार्किंग वे पर लेकर जाते हैं. इसमें ईंधन की खपत होती है. लेकिन अब यह काम टैक्सीबोट के जरिए किया जा सकेगा. इस मशीन का विकास विकास इजरायली कंपनी इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्री (आइएआइ) ने किया है, जबकि केएसयू एविएशन प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी इसे भारत लेकर आ रही है.

दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विदेश कुमार ने कहा है,' हम इसे लेकर बहुत उत्साहित है. टैक्सीबोट की व्यवस्था लागू हो जाने के बाद हम करीब हर उड़ान पर 213 लीटर ईंधन की बचत कर सकेंगे.' उनके मुताबिक सालाना तौर पर यह आंकड़ा बहुत बड़ा जाएगा. सस्ते सफर मुहैया कराने वाली स्पाइस जेट टैक्सी बोट का प्रयोग मंगलवार से शुरू करेगी.

ये भी पढ़ें:

यूपी के 11 विधायक जीते लोकसभा चुनाव, विधानसभा उपचुनाव में साथ लड़ेंगी सपा-बसपा!
Loading...

जानिए कौन हैं वैभव गहलोत, जिनकी वजह से कांग्रेस में छिड़ा 'महायुद्ध'

अगले 48 घंटे में देश के इन हिस्सों में शुरू हो सकती है मानसून की पहली बारिश!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 27, 2019, 5:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...