2800 बेड के साथ दिल्ली को मिलेंगे 3 नए अस्पताल, 6 महीने में पूरा होगा निर्माण

स्वास्‍थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को एक रिपोर्ट देकर जानकारी दी कि आईजीएच का 85 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और आने वाले छह माह में फर्नीचर का भी काम पूरा कर लिया जाएगा.

News18Hindi
Updated: September 11, 2019, 6:31 PM IST
2800 बेड के साथ दिल्ली को मिलेंगे 3 नए अस्पताल, 6 महीने में पूरा होगा निर्माण
सरकारी रिकॉर्ड्स के अनुसार आईजीएच के निर्माण के लिए 1997 में ही निर्णय ले लिया गया था लेकिन इसका निर्माण 2014 में शुरू किया गया.
News18Hindi
Updated: September 11, 2019, 6:31 PM IST
नई दिल्ली. आने वाले छह महीने के अंदर ही राजधानी को तीन नए अस्पताल (Hospital) मिलने वाले हें. जानकारी के अनुसार इनमें कुल 2800 बेड होंगे. यह दिल्ली (Delhi) के अलग-अलग इलाकों में खुलेंगे और इनमें इंदिरा गांधी अस्पताल भी है जो द्वारका में बनाया जा रहा है. आईजीएच (IGH) द्वारका में बनने दक्षिण पश्चिम दिल्ली में बनने वाला सबसे बड़ा अस्पताल होगा और इसमें 1241 बेड होंगे. स्वास्‍थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को एक रिपोर्ट देकर जानकारी दी कि आईजीएच का 85 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और आने वाले छह माह में फर्नीचर का भी काम पूरा कर लिया जाएगा. बता दें कि इस अस्पताल को पूरा करने की अंतिम तिथि 21 मार्च, 2020 है.

बुराड़ी और अंबेडकर नगर में होंगे अस्पताल
टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार आईजीएच के अलावा जिन दो और अस्पतालों के निर्माण का कार्य चल रहा है वो दक्षिण दिल्ली के अंबेडकर नगर और उत्तर पश्चिमी दिल्ली के बुराड़ी में बनेंगे. अंबेडकर नगर हॉस्पिटल में कुल 600 बेड की व्यवस्‍था होगी, जबकि बुराड़ी अस्पताल में 750 बेड होंगे. जानकारी के अनुसार इन तीन अस्पतालों के निर्माण की प्लानिंग किए हुए दस साल से ज्‍यादा का समय बीत चुका है. सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार आईजीएच के निर्माण के लिए वर्ष 1997 में ही निर्णय ले लिया गया था लेकिन इसका निर्माण 2014 में शुरू किया गया. शुरुआत में इस अस्पताल को 750 बेड के साथ बनाने का निर्णय लिया गया लेकिन आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने इसे दोगुना करने का निर्णय लिया.

2013 में हुआ था फैसला

अंबेडकर निगर अस्पताल के निर्माण को हरी झंडी वर्ष 2013 में दे दी गई थी. इसके लिए 125.9 करोड़ रुपये की राशि तय की गई थी. लेकिन 22 अक्टूबर, 2016 को दिल्ली कैबिनेट ने इसे 200 से 600 बेड का अस्पताल बनाने का निर्णय लिया. बता दें कि इन सभी अस्पतालों की प्लानिंग पिछली सरकारों में ली गई थीं, लेकिन इनका निर्माण अब शुरू हुआ है.

ये भी पढ़ेंः दाढ़ी और पगड़ी के चलते सिख युवक को मैनेजर ने नहीं दी Restaurant में एंट्री, की बदतमीजी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 3:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...