लाइव टीवी

टॉप-10 प्रदूषित शहरों से दिल्ली हुआ बाहर, उत्तर प्रदेश के 7 शहरों की हवा हुई जहरीली

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 11:42 AM IST
टॉप-10 प्रदूषित शहरों से दिल्ली हुआ बाहर, उत्तर प्रदेश के 7 शहरों की हवा हुई जहरीली
टॉप-10 प्रदूषित शहरों से दिल्ली हुआ बाहर

दिल्ली (Delhi) में बढ़ते प्रदूषण (pollution) के स्तर से लोग डरे हुए हैं लेकिन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की स्थिति और भी ज्यादा खतरनाक है. आज जारी किए गए एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air Quality Index) को देखें तो गाजियाबाद की आबोहवा सबसे ज्यादा खराब है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 11:42 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) की हवा एक बार फिर खराब होने का दावा किया जा रहा है. मौसम (Weather) का हाल बताने वाली संस्‍था स्काईमेट (Skymate) के अनुसार अगले एक-दो दिनों में राजधानी और आसपास के क्षेत्र में मौसम और भी ज्यादा खराब हो सकता है. इसी के साथ दिल्ली गैस चैंबर में तब्दील हो सकती है. स्काईमेट के दावों के बीच बुधवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स में प्रदूषण का जो स्तर पेश किया गया है उसमें दिल्ली टॉप 10 से बाहर हो गया है.

एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनुसार टॉप 10 प्रदूषित शहरों की सूची में सात शहर उत्तर प्रदेश के हैं. दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के स्तर से लोग डरे हुए हैं लेकिन उत्तर प्रदेश की स्थिति और भी ज्यादा खतरनाक है. आज जारी किए गए एयर क्वालिटी इंडेक्स को देखें तो गाजियाबाद की आबोहवा सबसे ज्यादा खराब है. इसके बाद ग्रेटर नोएडा का नंबर आता है जबकि कानपुर तीसरे नंबर पर है.

सोमवार से ही बढ़ने लगा था प्रदूषण का स्तर
दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में शनिवार और रविवार की हवा कुछ साफ रहने के बाद सोमवार से ही प्रदूषण के स्तर में बढ़त देखने को मिली थी. सोमवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 188 के स्तर पर दर्ज किया गया था जो कि मंगलवार को बढ़ कर 2018 तक पहुंच गया. कुछ इलाकों में इस दौरान स्मॉग का असर भी दिखाई दिया. वहीं बुधवार को अब यह स्तर और बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. दिल्ली और नोएडा के कई इलाकों मे स्मॉग का असर भी काफी देखा जा रहा है. राजधानी में पीएम 2.5 का स्तर 210 रहा.

इसे भी पढ़ें :- Delhi-NCR की हवा आज हो सकती है बेहद खराब, राष्ट्रपति कोविंद बोले- भविष्य को लेकर डर रहता है

राष्‍ट्रपति कोविंद भी चिंतित
दिल्ली में बढ़ते पॉल्यूशन को देखते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी चिंतित हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे हालात को देखते हुए भविष्य की चिंता होती है और अस्‍तित्व का खतरा नजर आता है. राष्ट्रपति कोविंद ने यह बात राष्ट्रपति भवन में विजिटर्स कॉन्‍फ्रेंस के दौरान कही. उन्होंने कहा, 'यह साल का ऐसा वक्त है जब देश की राजधानी और कई अन्य शहरों की वायु गुणवत्ता मानकों से परे काफी खराब हो गई है. कई वैज्ञानिकों ने भविष्य की दुखद तस्वीर पेश की है. शहरों में धुंध और खराब दृश्यता के दिनों में हमें डर रहता है कि क्या भविष्य ऐसा ही है.'
Loading...

इसे भी पढ़ें :- दिल्ली की आबोहवा कैसे हो साफ? संसदीय समिति आज करेगी विचार

शहर में क्या है AQI की स्थिति
शहर                        प्रदूषण का स्तर                स्थिति
ग़ाज़ियाबाद (यूपी)            353                     बहुत खराब
ग्रेटर नोएडा (यूपी)           338                      बहुत खराब
कानपुर (यूपी)                 335                      बहुत खराब
पानीपत (हरियाणा)          331                     बहुत खराब
मेरठ (यूपी)                     330                     बहुत खराब
बाग़पत (यूपी)                 328                      बहुत खराब
यमुनानगर (हरियाणा)      321                      बहुत खराब
नोएडा (यूपी)                  318                      बहुत खराब
मुरादाबाद (यूपी)             306                      बहुत खराब
भिवाड़ी (राजस्थान)         302                      बहुत खराब

इसे भी पढ़ें :- लोकसभा: प्रदूषण पर चर्चा में दिल्‍ली के 2 BJP सांसद गैरहाजिर, 543 में से सिर्फ इतने एमपी पहुंचे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 11:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...