मां ने छोड़ा, महबूबा ने ठुकराया तो लुटेरों का सरगना बन गया 4.5 फुट और 22 साल का पव्वा

भाई अपनी जिंदगी में मस्त था. छोटे कद को लेकर कभी-कभी खुद पर ही तरस आने लगता. हालात ऐसे बिगड़े की फुटपाथ और गलियों में दिन-रात गुजरने लगे. नशेड़ियों की संगत में शराब और न जाने कौन-कौन से नशे का आदी हो गया.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 12:23 PM IST
मां ने छोड़ा, महबूबा ने ठुकराया तो लुटेरों का सरगना बन गया 4.5 फुट और 22 साल का पव्वा
फाइल फोटो- पव्वा को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है.
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 12:23 PM IST
पिता की मौत हो गई. एक दिन मां भी छोड़कर कहीं और चली गई. उसके बाद एकमात्र सहारा महबूबा थी तो एक दिन उसने भी मुंह मोड़ लिया. भाई अपनी जिंदगी में मस्त था. छोटे कद को लेकर कभी-कभी खुद पर ही तरस आने लगता. हालात ऐसे बिगड़े की फुटपाथ और गलियों में दिन-रात गुजरने लगे. नशेड़ियों की संगत में शराब और न जाने कौन-कौन से नशे का आदी हो गया. नशे की लत को पूरा करने के लिए चोरी और झपटमारी शुरु कर दी. देखते ही देखते गैंग बना लिया. उसके बाद तो जैसे पूरी दिनचर्या तय हो  गई. दिनभर लूट-झपटमारी करना और शाम को साथियों के साथ मौज-मस्ती. यह कहानी है 4.5 फुट और  22 साल के पव्वा की. पव्वा को साउथ-ईस्ट पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

चार साल पहले ऐसे बदली पव्वा की जिंदगी
मदनपुर, खादर का रहने वाला पव्वा चार साल पहले तक सामान्य जिंदगी जी रहा था. पव्वा के दाएं हाथ पर उसकी गर्लफ्रेंड का नाम गुदा हुआ है. पव्वा बताता है जब पिता की मौत हो गई और मां छोड़ गई तो उसकी हालत खराब हो गई. भाई साथ रखता था. कपड़ों और खाने के लिए मोहताज हो गया. हालत खराब देखकर गली में ही रहने वाली महबूबा ने भी साथ छोड़ दिया.

उसके बाद नशे की लत को पूरा करने के लिए घरों में चोरियां करने लगा. फिर मोहल्ले के ही दो-चार लड़कों को संग लगा लिया. लूट और झपटमारी भी शुरू कर दी. हर समय लड़के साथ रहते थे तो लोग भी डरने लगे.

नशे की लत के चलते पव्वा लूट और झपटमारी करने लगा था. (सांकेतिक फोटो)


15 प्रतिशत कमीशन पर कराता था लूट
पव्वा ने पुलिस को बताया कि वह लूट और झपटमारी के लिए लड़कों को गैंग में भर्ती करता था. गैंग का नाम पव्वा पड़ चुका था. वारदात करने वाले लड़कों को 15 प्रतिशत कमीशन देता था. हर वारदात में लड़कों के साथ पव्वा खुद भी साथ रहता था.
Loading...

अपने छोटे कद के चलते पव्वा काफी समय से पुलिस को गच्चा देता आ रहा था. (फाइल फोटो)


एक बार पकड़े गए लड़के को दोबारा गैंग में नहीं मिलती थी एंट्री
पव्वा ने खुलासा करते हुए पुलिस को बताया कि अगर गैंग का कोई भी लड़का एक बार पुलिस की पकड़ में आ जाता था तो पव्वा उसे दोबारा गैंग में एंट्री नहीं देता. साथ ही नए लड़के को गैंग में रखने से पहले भी यह पता कर लेता था कि कहीं यह पहले किसी वारदात में पकड़ा तो नहीं जा चुका है.

ये भी पढ़ें- मॉब लिंचिंग की घटना में अब ऐसे मिलेगी तुरंत मदद, जारी हुआ यह नम्बर

तीसरी बार एक साथ 30 से ज्यादा लाशें देखकर ये बोला पोस्टमार्टम हाउस का कर्मचारी

हैवानियत: बच्ची के शरीर पर हर जगह लगे हैं टांके, दर्द से रोने पर भी नहीं निकल रही आवाज़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 11:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...