नॉर्थ ईस्ट के छात्र निदो तानिया की मौत मामले में 4 दोषियों को कोर्ट ने सुनाई सज़ा

साकेत जिला अदालत ने आरोपी फरमान, पवन, सुंदर और सनी उप्पल को गैर-इरादतन हत्या की धारा में दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई है. इसके अलावा इन सभी पर 20-20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 11:01 AM IST
नॉर्थ ईस्ट के छात्र निदो तानिया की मौत मामले में 4 दोषियों को कोर्ट ने सुनाई सज़ा
पूर्वोत्‍तर छात्र निदो तानिया मामले में चार को कैद .
News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 11:01 AM IST
दिल्ली. दिल्‍ली के साकेत कोर्ट (Saket Court) ने अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के 20 वर्षीय छात्र निदो तानिया (Nido Tania) की मौत मामले में चार लोगों को दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई है. बता दें कि जनवरी 2014 में दिल्‍ली के लाजपत नगर (Lajpat Nagar) में कुछ लोगों ने पूर्वोत्‍तर के छात्र निदो तानिया पर नस्‍लभेदी टिप्‍पणी करने के बाद उसकी बेरहमी से पिटाई की थी. जिसके दूसरे ही दिन उसकी मौत हो गई थी.

इस मामले में साकेत जिला अदालत के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप यादव ने आरोपी फरमान, पवन, सुंदर और सनी उप्पल को गैर-इरादतन हत्या की धारा में दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई है. कोर्ट ने फरमान को मुख्‍य दोषी मानते हुए 10 साल कैद की सजा (Sentenced To Imprisonment) दी है. जबकि अन्‍य दोषी पवन और सुंदर को 7-7 साल कैद और सनी उप्पल को 3 साल कैद की सजा सुनाई है. इसके अलावा इन सभी पर 20-20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

बता दें कि लाजपत नगर में मोमोज (Momos) को लेकर निदो तानिया की दुकानदार से मामूली कहासुनी झगड़े में बदल गई थी. इस दौरान दुकान पर मौजूद लोगों ने तानिया पर नस्‍लभेदी टिप्‍पणियां कीं. जिसके बाद तानिया ने दुकान के ग्‍लास को तोड़ दिया था और फिर दुकानदार सहित अन्‍य लोगों ने निदो की लोहे की छड़ और लाठी से पिटाई कर दी गई थी. जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

तत्‍कालीन विधायक का बेटा था निदो तानिया, राहुल गांधी ने मांगा था न्‍याय

2014 में हुई इस घटना ने सभी को झकझोर दिया था. मृत छात्र तानिया अरुणाचल प्रदेश के तत्‍कालीन कांग्रेस विधायक का बेटा था. उस दौरान तानिया की मौत के बाद पूर्वोत्तर के छात्रों की ओर से निकाले गए कैंडल मार्च में राहुल गांधी भी शामिल हुए थे और तानिया के गुनहगारों को जल्‍द सजा की मांग की थी.

ये भी पढ़ें

JNU छात्र संघ चुनाव नतीजों पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक, 8 सितंबर को आना था परिणाम
Loading...

केजरीवाल से सुप्रीम कोर्ट ने कहा- साथ-साथ नहीं चल सकते लुभावने वादे और नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 9:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...