प्लास्टिक खाकर मरा दिल्ली के चिड़ियाघर का आखिरी जंगली भैंसा

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 9:30 PM IST
प्लास्टिक खाकर मरा दिल्ली के चिड़ियाघर का आखिरी जंगली भैंसा
बताया जा रहा है कि यह चिड़ियाघर का आखिरी भैंसा था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

राजधानी दिल्ली के चिड़ियाघर में 27 अगस्त को एक जंगली भैंसे (Cape buffalo) की मौत हो गई. लेकिन, मौत की वजह से सामने आई तो सब चौंक गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 9:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के चिड़ियाघर में 27 अगस्त को एक जंगली भैंसे (Cape buffalo) की मौत हो गई. लेकिन, मौत की वजह से सामने आई तो सब चौंक गए. बताया जा रहा है कि यह चिड़ियाघर का आखिरी भैंसा था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि जंगली भैंसे के पेट में प्लास्टिक था. अब सवाल उठता है कि चिड़ियाघर में प्लास्टिक कैसे आया? क्योंकि, ये जगह तो पहले से ही नो प्लास्टिक जोन है.

हकीकत से दूर दावे
राजधानी दिल्ली के चिड़ियाघर में कहने को तो जानवरों के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं हैं लेकिन ये सब दावे फाइलों पर ही हैं. जमीनी हकीकत कुछ और ही है. भैंसे के पेट में प्लास्टिक होने की बात चिड़ियाघर प्रशासन भी मान रहा है लेकिन अपनी गलती मानने को तैयार नहीं. चिड़ियाघर के पीआरओ रियास अहमद खान ने इस संबंध में कहा कि ये जांच का विषय है कि प्लास्टिक अंदर कैसे आया. हमने जांच के लिए कमेटी बना दी है. जो भी दोषी होगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा.

दावों की खुली पोल

पीआरओ यह भी तक दावा किया कि चिड़ियाघर के अंदर प्लास्टिक जा ही नहीं सकता. लेकिन सच्चाई इससे उलट है. चिड़ियाघर के भीतर प्लास्टिक की बोतलें साफ देखी जा सकती हैं. सामाजिक कार्यकर्ता गौरी मोलेखी (Gauri Maulekhi) का कहना है कि चिड़ियाघर के जानवरों को ठीक से पेटभर खाना नहीं मिलता है इसलिए वो प्लास्टिक खाने पर मजबूर होते हैं. चिड़ियाघर कहने को नो प्लास्टिक जोन है लेकिन ये सारे दावे सच्चाई से दूर हैं.
(मोहित सिंह की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें:
Loading...

यूपी में गर्माया NRC का मुद्दा, मेरठ के नायब शहर काज़ी बोले- लागू करने की कोई जरूरत नहीं

स्पा रेड मामलाः पुलिस ने कहा- लाइसेंसी है सेंटर, युवतियां बालिग

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 8:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...