देश की ये 10 ऐतिहासिक धरोहर अब रात 9 बजे तक खुली रहेंगी

केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने सोमवार को कहा कि संस्कृति मंत्रालय ने 10 ऐतिहासिक धरोहरों को अब सूर्योदय से लेकर रात 9 बजे तक आम जनता के लिए खोलने का निर्णय लिया है.

भाषा
Updated: July 29, 2019, 10:32 PM IST
देश की ये 10 ऐतिहासिक धरोहर अब रात 9 बजे तक खुली रहेंगी
हुमायूं का मकबरा अब रात के दस बजे तक खुला रहेगा.
भाषा
Updated: July 29, 2019, 10:32 PM IST
केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने सोमवार को कहा कि संस्कृति मंत्रालय ने 10 ऐतिहासिक धरोहरों को अब सूर्योदय से लेकर रात 9 बजे तक आम जनता के लिए खोलने का निर्णय लिया है. वर्तमान में अधिकतर स्मारकों के द्वार शाम छह बजे तक सैलानियों के लिए बंद हो जाते हैं.

जिन ऐतिहासिक धरोहरों का समय बढ़ाये जाने का निर्णय लिया गया है उनमें दिल्ली में हुमायूं का मकबरा और सफदरजंग मकबरा के अलावा भुवनेश्वर में राजा रानी मंदिर, खजुराहो में दूल्हादेव मंदिर, कुरुक्षेत्र में शेख चिल्ली का मकबरा, कर्नाटक में पट्टडकल स्मारक समूह, कर्नाटक में गोल गुम्बद, महाराष्ट्र में मंदिरों का समूह (मार्कण्डा), उत्तर प्रदेश (वाराणसी) में मान महल और गुजरात में रानी की वाव शामिल हैं. मंत्री ने कहा कि समय में परिवर्तन तीन साल की अवधि के लिए प्रभावी होगा.

उन्होंने कहा, 'इस सूची में शामिल कुछ स्थानों पर मंदिर हैं जो पर्यटकों और स्थानीय लोगों के बीच लोकप्रिय हैं. लोग रात में भी मंदिर जाते हैं. इसलिए, इन स्थानों पर जाने का समय शाम छह बजे के बाद बढ़ाया गया है.' इससे पहले राज्यों से आने वाले प्रस्तावों पर चर्चा करने के लिए दो मंत्रालयों द्वारा गठित एक समिति ने इस तरह के 35 स्मारकों पर चर्चा की थी, जिन्हें आम जनता के लिए रात दस बजे तक खुला रखे जाने का प्रस्ताव था.

समिति ने पहले चरण में इनमें से 10 धरोहरों में नया समय लागू करने और इसे रात नौ बजे तक करने का निर्णय लिया. वर्तमान में ऐतिहासिक धरोहर ताज महल का समय सूर्योदय (सुबह छह बजे) से सूर्यास्त (शाम साढ़े छह बजे तक) है लेकिन इस धरोहर को इस सूची में स्थान नहीं मिला है.

ये भी पढ़ें:

उन्नाव केस: पीड़िता गायब हुई, आत्मदाह की कोशिश की, फिर...

उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट: KGMU ने कहा- स्थिति गंभीर
First published: July 29, 2019, 10:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...