दिल्ली के 4 बड़े अस्पतालों के डॉक्टरों की हड़ताल वापस, सेवाएं बहाल

दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और लोकनायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल (LNGPH) के डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है.

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 10:26 PM IST
दिल्ली के 4 बड़े अस्पतालों के डॉक्टरों की हड़ताल वापस, सेवाएं बहाल
दिल्ली के 4 बड़े अस्पतालों के डॉक्टरों की हड़ताल वापस, सेवाएं बहाल.
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 10:26 PM IST
दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और लोकनायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल (LNGPH) के डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है. बीती रात एक मरीज के रिश्तेदारों ने एलएनजीपी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में एक डॉक्टर को पीट दिया था. इसके विरोध में डॉक्टरों ने हड़ताल पर जाने की बात कही थी.

इस घटना के विरोध में दिल्ली के 4 बड़े अस्पतालों में डॉक्टर हड़ताल पर चले गए थे. लोकनायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल (LNJPH) सहित गोविंद बल्लभ पंत (जीबी पंत), मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और गुरुनानक आई सेंटर के डॉक्टरों ने सोमवार को काम करना बंद कर दिया था. ये सभी अस्पताल मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी पर तैनात एक डॉक्टर के साथ मरीज के परिजनों द्वारा की गई मारपीट का विरोध कर रहे थे.

अस्पतालों में सुरक्षा की मांग कर रहे हैं डॉक्टर
सोमवार सुबह से हड़ताल पर गए डॉक्टर अस्पतालों में सुरक्षा की मांग कर रहे थे. वहीं अस्पतालों में चरमराई स्वास्थ्य सेवाओं को देखते हुए दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने बैठक बुलाई, जिसमें रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन और MS LNJP ने बातचीत की. उसके बाद दिल्ली सचिवालय में रेजिडेंट डॉक्टरों और स्वास्थ्य सचिव समेत कई अधिकारियों के बीच हुई बैठक खत्म हो गई. बताया जा रहा है कि जल्द ही अस्पतालों में मार्शलों की तैनाती की जाएगी. हालांकि इसके लिए सभी डॉक्टर्स लिखित आश्वासन या मिनट्स ऑफ द मीटिंग का इंतजार कर रहे हैं.

दिल्ली के हिंदू राव में भी हुई थी डॉक्टर के साथ मारपीट
जुलाई में ही दिल्ली के बाड़ा हिंदू राव अस्पताल में हुई मारपीट की घटना के विरोध में डॉक्टरों ने हड़ताल कर दी थी. अस्पताल के सभी रेजिडेंट डॉक्टर्स ने काम करना बंद कर दिया था. सुरक्षा की मांग कर रहे डॉक्टरों का कहना था, 'अस्पताल प्रशासन एक पुलिस चौकी स्थापित करने की बात कर रहा है लेकिन हमें गार्ड्स की संख्या में बढ़ोतरी भी चाहिए. अगर लिखित में हमारी मांग मान ली जाती है तो ठीक है वरना जब तक ऐसा नहीं होता है हम काम पर नहीं लौटेंगे.'

ये भी पढ़ें - 
Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 10:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...