डॉक्टर्स ने 11 लाख जुटा करवाया 7 साल के बच्चे का लिवर ट्रांसप्लांट, खुश हुए पिता ने कही ये बात

जहां डॉक्टरों ने अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान को बताया कि लिवर ट्रांसप्लांट में 15 लाख रुपये का खर्चा आएगा. सामान्य आय वर्ग के अली हम्जा के माता-पिता 15 लाख रुपये के खर्चे से लिवर ट्रांसप्लांट ऑपरेशन कराने में असमर्थ थे.

News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 5:07 PM IST
डॉक्टर्स ने 11 लाख जुटा करवाया 7 साल के बच्चे का लिवर ट्रांसप्लांट, खुश हुए पिता ने कही ये बात
अली हम्जा और पिता मोहम्मद रेहान (Photo- ANI)
News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 5:07 PM IST
आम तौर पर देखा जाता है कि ऑर्गन ट्रांसप्लांट की जरूरत केवल बड़ों को पड़ती है लेकिन कुछ ऐसी बीमारियां बच्चों को भी हो सकती हैं, जब उन्हें अंग प्रत्यारोपण की जरूरत पड़ जाती है. लखनऊ के 7 वर्षीय बच्चे अली हम्जा का मामला भी कुछ ऐसा ही है, जिसका दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स हॉस्पिटल में लिवर ट्रांसप्लांट किया गया.

अली हम्जा को बीमारी की एडवांस स्टेज में अस्पताल ले जाया गया था. जहां डॉक्टरों ने अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान को बताया कि लिवर ट्रांसप्लांट में 15 लाख रुपये का खर्चा आएगा. सामान्य आय वर्ग के अली हम्जा के माता-पिता 15 लाख रुपये के खर्चे से लिवर ट्रांसप्लांट ऑपरेशन कराने में असमर्थ थे. इस पर डॉक्टरों ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया.

डॉक्टरों ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया
मैक्स हॉस्पीटल के डॉक्टर शरत शर्मा ने बताया कि सात वर्षीय अली हम्जा के लिवर ने पूरी तरह से काम करना बंद कर दिया था. उसे पीलिया हुआ था जिसकी वजह से वह कोमा में चला गया था. बच्चे की हालत देखते हुए हमने उसके माता-पिता को बच्चे के लिवर ट्रांसप्लाट का सुझाव दिया, लेकिन परिवार वालों ने कहा कि उनके पास लिवर ट्रांसप्लांट कराने के लिए पैसा नहीं है. ऐसे में हमने उनकी मदद का बीड़ा उठाया.

डॉक्टरों ने चंदे से जुटाए 11 लाख रुपये
डॉक्टरों की टीम ने 7 वर्षीय अली हम्जा के ऑपरेशन के लिए चंदे से 11 लाख रुपये जुटा लिए. जबकि अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान सिर्फ तीन लाख रुपये का इंतजाम ही कर सके. इसके बाद मैक्स सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल में बाल चिकित्सा और गैस्ट्रोइंटरोलॉजी में वरिष्ठ डॉक्टर शरत वर्मा की टीम ने 7 वर्षीय अली हम्जा का सफल ऑपरेशन किया.

डॉक्टरों की मदद से खुश परिजन
Loading...

अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान ने कहा कि उनके बेटे के इलाज के लिए पैसा जमा करने में अस्पताल के डॉक्टरों ने उनकी बहुत मदद की. ट्रांसप्लांट में 15 लाख रुपये का खर्चा था, जिसे जुटाने में वे असमर्थ थे. बच्चे के पिता ने कहा कि हमने किसी तरह तीन लाख रुपयों का इंतजाम किया, बाकी का पैसा अस्पताल के डॉक्टरों ने मिलकर जुटाया. उन्होंने कहा कि हम डॉक्टरों द्वारा की गई इस मदद के आभारी हैं.

ये भी पढ़ें--

...जब शीला दीक्षित को यूपी सरकार ने 23 दिन तक जेल में रखा था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 21, 2019, 5:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...