सफदरजंग अस्‍पताल के रेजिडेंट डॉक्‍टर आज भी हड़ताल पर

मुरादाबाद, ग्वालियर, मोतिहारी से सफदरजंग अस्पताल पहुंचे मरीजों और उनके परिजनों को हड़ताल देखकर निराशा हुई. उन्‍होंने कहा कि यहां दिल्‍ली में उनके पास रहने का ठिकाना नहीं है. ऐसे में उन्‍हें अपने शहर वापस लौटना पड़ेगा.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 12:23 PM IST
सफदरजंग अस्‍पताल के रेजिडेंट डॉक्‍टर आज भी हड़ताल पर
सफदरजंग अस्‍पताल में आज भी हड़ताल पर डॉक्‍टर.
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 12:23 PM IST
सफदरजंग अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर और सीनियर डॉक्टर आज भी एनएमसी बिल के विरोध में हड़ताल पर हैं. अस्‍पताल में दिखाने के लिए दूर-दराज से आए मरीजों का कहना है कि हड़ताल की वजह से उन्‍हें काफी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है.

मुरादाबाद, ग्वालियर, मोतिहारी से सफदरजंग अस्पताल पहुंचे मरीजों और उनके परिजनों को हड़ताल देखकर निराशा हुई. उन्‍होंने कहा कि यहां दिल्‍ली में उनके पास रहने का ठिकाना नहीं है. ऐसे में उन्‍हें अपने शहर वापस लौटना पड़ेगा. अब फिर आएंगे. गौरतलब है कि ये सभी डॉक्‍टर एनएमसी बिल का विरोध कर रहे हैं और उसमें संशोधन करवाना चाहते हैं.

डॉक्टरों का कहना है कि यह हड़ताल मरीजों को परेशान करने के लिए नहीं है, बल्कि सरकार को बिल की खामियों के बारे में बताने के लिए है. आईएमए के नेशनल अध्यक्ष शांतनु सेन ने कहा है कि इस बिल के आने से न केवल झोलाछाप डॉक्टरों को वैधता मिलेगी बल्कि लोगों की जान भी खतरे में रहेगी. उन्होंने कहा कि बिल के विरोध में आज देशभर के तीन लाख डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे. बता दें कि यह बिल मेडिकल काउंसिल की जगह लेगा और इसमें कई बदलाव किए गए हैं.

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के साथ चल रही डॉक्‍टरों की बैठक

नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) बिल के विरोध में हड़ताल पर गए डॉक्‍टरों की केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन के साथ बैठक चल रही है. यह बैठक स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में हो रही है.


ये भी पढ़ें
Loading...

मेट्रो के आगे कूदने जा रही थी मां,बेटे ने CISF को किया अलर्ट

शौहर ने बीवी को दिया तीन तलाक, 6 बच्‍चों समेत घर से निकाला
First published: August 2, 2019, 10:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...