News18-IPSOS Exit Poll 2019: बीजेपी के खाते में फिर जा रही है साउथ दिल्ली?

लोकसभा चुनावों में वोटिंग का दौर समाप्त होने के बाद जो अनुमान सामने आ रहे हैं, उनके मुताबिक दिल्ली की खास दक्षिण दिल्ली सीट पर किसके जीतने के आसार साफ हैं? पढ़ें अनुमान और पूरा गणित.

News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 9:03 PM IST
News18-IPSOS Exit Poll 2019: बीजेपी के खाते में फिर जा रही है साउथ दिल्ली?
साउथ दिल्ली सीट पर एक बार फिर 'कमल' खिल सकता है (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 9:03 PM IST
दक्षिण दिल्ली लोकसभा सीट दिल्ली की खास सीट है, जहां भाजपा ने अपने मौजूदा सांसद रमेश बिधूड़ी को चुनाव मैदान में उतारा है. जबकि कांग्रेस यहां स्टार पावर दिखाने के मूड में सेलिब्रिटी बॉक्सर पर दांव खेल रही है. वहीं, आम आदमी पार्टी ने युवा चेहरे राघव का ट्रंप कार्ड खेला है. मतदान संपन्न होने के बाद News18-IPSOS के सर्वे पर आधारित अनुमान के मुताबिक, कड़े मुकाबले में बिधूड़ी का पलड़ा भारी है और दक्षिण दिल्ली सीट भाजपा अपने पक्ष में निकाल सकती है.

दक्षिणी दिल्ली से बीजेपी ने एक बार फिर रमेश बिधूड़ी को मौका दिया है, तो वहीं कांग्रेस ने बिधूड़ी के खिलाफ मैदान में स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह को उतारा है. जबकि आम आदमी पार्टी ने युवा नेता राघव चड्ढा को टिकट दिया है. आम आदमी पार्टी ने काफी पहले से अपने प्रवक्‍ता और युवा नेता राघव चड्ढा को यहां से प्रत्‍याशी घोषित कर दिया था. आम आदमी पार्टी पूरे ज़ोर-शोर से यहां प्रचार प्रसार कर चुकी है.



पिछले चुनावों का इतिहास
दक्षिणी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र दिल्‍ली की महत्‍वपूर्ण लोकसभा सीटों में से एक है. 1989 से सिर्फ भारतीय जनता पार्टी की सीट रही दक्षिणी दिल्‍ली में 2009 में पहली बार हुआ कि कांग्रेस के रमेश कुमार ने जीत दर्ज की. हालांकि 2014 में कांग्रेस उम्‍मीदवार दूसरे नंबर पर भी नहीं आ सके. इस सीट से बीजेपी के बलराज मधोक, सुषमा स्वराज और मदन लाल खुराना के अलावा कांग्रेस से ललित माकन जैसे नेता सांसद रहे हैं. 2014 में बीजेपी से रमेश बिधूड़ी ने यहां जीत दर्ज की थी.

लोकसभा सीट की आबादी के आंकड़े
2008 में हुए प‍रिसीमन के बाद इस संसदीय के अंतर्गत 10 विधानसभा क्षेत्र हैं. जिनमें बिजवासन, देवली, कालकाजी, पालम, अंबेडकर नगर, तुगलकाबाद, महरौली, संगम विहार, बदरपुर और छतरपुर शामिल हैं. वहीं 2011 की जनगणना के मुताबिक 2,733,752 की आबादी के साथ यह क्षेत्र दिल्ली के सबसे घनी आबादी वाले क्षेत्रों में से एक है. इसमें 10,935 निवासी प्रति वर्ग किलोमीटर का अनुमान है. वहीं कुल मतदाताओं की संख्या 1,542,412 है.

संसदीय क्षेत्र के खास इलाके
Loading...

यह संसदीय सीट मुनिरका, बेगमपुर, जिया सराय, कटवारिया सराय, बदरपुर, मंडी गांव, हौज खास विलेज, लाडो सराय, बेर सराय, सीआर पार्क और ग्रैंड ट्रंक रोड पर ऐतिहासिक बदरपुर जैसे विशाल क्षेत्रों को कवर करता है. इसके साथ ही हौज खास में हिरण पार्क और रोज गार्डन, अशोक वन्यजीव अभयारण्य, तुगलकाबाद में असंख्य स्मारक, सरोजिनी नगर, लाजपत नगर और ग्रेटर कैलाश के बाजार यहां की खासियतें हैं.

बिधूड़ी ने 2014 में लिया था हार का बदला
लोकसभा चुनाव 2014 में बीजेपी के रमेश बिधूड़ी ने करीब 10 फीसदी अ‍तिरिक्‍त वोटों से जीत दर्ज की थी. बिधूड़ी ने आम आदमी पार्टी के कर्नल देविंदर सेहरावत को मात दी. बिधूड़ी को 497980 वोट मिले जबकि कर्नल 390980 वोटों के साथ दूसरे स्‍थान पर रहे. कर्नल करीब 107000 वोटों से ये चुनाव हार गए. वहीं कांग्रेस की हालत यहां भी सबसे खराब रही. 2009 में सांसद रहे रमेश कुमार 125213 वोटों के साथ तीसरे नंबर पर रहे. जबकि रमेश कुमार ने ही बीजेपी के रमेश बिधूड़ी को 2009 में करीब 93219 वोटों से शिकस्‍त दी थी.​

ये भी पढ़ें-- 

News18-IPSOS Exit Poll 2019: गाजियाबाद सीट पर BJP लगा रही है हैट्रिक?

Exit Poll 2019: इस हिंदी भाषी राज्य में NDA पर भारी पड़ा UPA, मिलीं इतनी सीटें!

Analysis: अगर नतीजे Exit Poll 2019 जैसे ही आते हैं तो क्या हर सीट पर मोदी ही लड़ रहे थे?

...जब बद्रीनाथ धाम में पुजारी ने पूछ लिया PM मोदी के पिता का नाम, दिया था दिलचस्प जवाब

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...