अरविंद केजरीवाल सरकार की महिलाओं को मुफ्त मेट्रो यात्रा क्यों नहीं है मास्टरस्ट्रोक

अरविंद केजरीवाल अगर वाकई महिलाओं की सुरक्षा के लिए कुछ करना चाहते हैं तो बजट में अलग हट कर प्रावधान कर सकते थे. मेट्रो और डीटीसी में फ्री पास से कैसे होगी महिला सुरक्षा?

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 6:58 PM IST
अरविंद केजरीवाल सरकार की महिलाओं को मुफ्त मेट्रो यात्रा क्यों नहीं है मास्टरस्ट्रोक
फाइल फोटो: दिल्ली मेट्रो में सफर करती महिलाएं
Ravishankar Singh
Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 6:58 PM IST
दिल्ली में अगले साल की शुरुआत में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक बड़ा दांव चल दिया है. केजरीवाल ने एलान किया है कि महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में फ्री यात्रा का सुविधा दी जाएगी. दिल्ली में रोजाना करीब 30 लाख लोग मेट्रो का सफर करते हैं जिनमें से करीब 30 फीसदी महिलाएं हैं. दूसरी ओर डीटीसी पर भी दिल्ली की बड़ी आबादी निर्भर है. ऐसे में केजरीवाल की यह घोषणा विशुद्ध रूप से चुनावी मानी जा रही है. हालांकि, ये तो वक्त ही बताएगा कि क्या वो महिला वोटरों को रिझाने में कामयाब हो पाएंगे?

केजरीवाल ने कहा, ‘यह सुविधा दिल्ली की सभी डीटीसी की बसों में मिलेगी. सरकार ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) से इस योजना को लागू करने के तकनीकी पहलुओं पर कार्य करने को कहा है. साथ ही पूछा है कि इस योजना को कैसे लागू किया जा सकता है? इसके लिए मुफ्त पास की व्यवस्था होगी या कोई अन्य विकल्प होगा?’

दिल्ली सरकार की इस घोषणा के बाद हमने फ्री में पास दिए जाने की योजना पर कई जानकारों से बात की. जानकारों का मानना है कि सरकार का जब पैसा बचने लगता है तो उसको विकास कार्यों में काम करने की जरूरत है, जिससे बाद में उससे आर्थिक लाभ भी मिल सकता है. लेकिन, चुनावी साल होने के कारण दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल उस पैसे को हवा में उड़ा रहे हैं. (ये भी पढ़ें: 'कोई भी पद और विभाग छोटा नहीं होता है. जो मंत्रालय मुझे मिला है वह बड़ा महत्वपूर्ण है')

delhi metro, DTC Buses, women free travel, free travel for women, Arvind kejriwal, delhi govt, free travel in metro , Arvind Kejriwal,delhi metro free for women,delhi buses free for women,Free Travel For Women In Delhi Buses,Free Travel For Women In Delhi metro,delho metro, free metro ride for women AAP,Delhi CM,CM Arvind Kejriwal,Chief Minister Arvind Kejriwal, Aam Aadmi Party,Delhi Assembly Elections 2020,free travel in buses for women,free travel in delhi metro for women , दिल्ली मेट्रो, डीटीसी, महिलाओं के लिए मेट्रो में फ्री पास, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, एलजी, उपराज्यपाल, अनिल बैजल, डीटीसी बसों में फ्री पास, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल       दिल्ली मेट्रो (File Photo)

कितना पड़ेगा बोझ

डीएमआरसी के एक अधिकारी ने न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहा है कि इस योजना को लागू करने पर दिल्ली सरकार पर प्रति वर्ष करीब 1200 से 1500 करोड़ रुपए तक का अतिरिक्त बोझ पड़ सकता है. इसे लेकर कुछ सवाल उठ रहे हैं. क्या दिल्ली सरकार की घोषणा को डीएमआरसी लागू करने के लिए बाध्य है? क्या डीएमआरसी केजरीवाल सरकार के इस प्रस्ताव को लागू कर देगी? क्या दिल्ली के एलजी अनिल बैजल दिल्ली सरकार के इस प्रस्ताव पर साइन कर देंगे? सरकार के राजस्व पर जो 1200 से 1500 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा उसकी भरपाई कैसे होगी?

लागू करना कठिन काम: अर्थशास्त्री
Loading...

देश के जाने माने अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला ने हमसे बातचीत में कहा,  'देखिए दिल्ली में इसको लागू करना एक कठिन काम है. केजरीवाल ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए नए तरीका इजाद कर लिया है. मेरी समझ से इसको लागू करने में कई पेंच सामने आएंगे. केजरीवाल अगर वाकई महिलाओं की सुरक्षा के लिए कुछ करना चाहते हैं तो बजट में अलग हट कर प्रावधान कर सकते थे. मेट्रो में फ्री पास और डीटीसी में फ्री पास से केजरीवाल महिलाओं को क्या सुरक्षा दे पाएंगे? दुनिया के किस देश में इस तरह की सुविधा दी गई है? दिल्ली एक धनी राज्य है. इस लिहाज से यहां पर इस तरह की घोषनाओं का कोई मतलब नहीं है. अगर सरकार का पैसा बच रहा है तो उसको विकास के कामों में लगाएं, जिससे सरकार की आमदानी भी बढ़ेगी.’

delhi metro, DTC Buses, women free travel, free travel for women, Arvind kejriwal, delhi govt, free travel in metro , Arvind Kejriwal,delhi metro free for women,delhi buses free for women,Free Travel For Women In Delhi Buses,Free Travel For Women In Delhi metro,delho metro, free metro ride for women AAP,Delhi CM,CM Arvind Kejriwal,Chief Minister Arvind Kejriwal, Aam Aadmi Party,Delhi Assembly Elections 2020,free travel in buses for women,free travel in delhi metro for women , दिल्ली मेट्रो, डीटीसी, महिलाओं के लिए मेट्रो में फ्री पास, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, एलजी, उपराज्यपाल, अनिल बैजल, डीटीसी बसों में फ्री पास, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल        अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया  (File Photo)

डीटीसी में लागू करना अड़चन नहीं

कुछ जानकारों का मानना है कि सरकार के सामने डीटीसी और क्लस्टर स्कीम बसों में इसे लागू करने में कोई अड़चन नहीं है, मगर मेट्रो में इसे लागू कर पाना फिलहाल मुश्किल नजर आ रहा है. डीएमआरसी को इस योजना को लागू करने में कई तकनीकी अड़चनें होंगी. डीएमआरसी में केंद्र और दिल्ली सरकार 50-50 परसेंट की हिस्सेदारी है. पिछली बार मेट्रो का किराया केजरीवाल सरकार के विरोध के बावजूद बढ़ा दिया गया था. इसको लेकर अरविंद केजरीवाल सरकार ने पुरजोर विरोध भी किया था.

दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने भी मेट्रो के अधिकारियों से कहा है कि यह योजना हर हाल में हमें लागू करनी है. गहलोत के मुताबिक मेट्रो में महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर आने वाले खर्च को दिल्ली सरकार वहन करेगी. दिल्ली सरकार इसके लिए डीएमआरसी को पैसा भुगतान करेगी.

delhi metro, DTC Buses, women free travel, free travel for women, Arvind kejriwal, delhi govt, free travel in metro , Arvind Kejriwal,delhi metro free for women,delhi buses free for women,Free Travel For Women In Delhi Buses,Free Travel For Women In Delhi metro,delho metro, free metro ride for women AAP,Delhi CM,CM Arvind Kejriwal,Chief Minister Arvind Kejriwal, Aam Aadmi Party,Delhi Assembly Elections 2020,free travel in buses for women,free travel in delhi metro for women , दिल्ली मेट्रो, डीटीसी, महिलाओं के लिए मेट्रो में फ्री पास, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, एलजी, उपराज्यपाल, अनिल बैजल, डीटीसी बसों में फ्री पास, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल            बीजेपी समर्थक बीजेपी का झंडा पहराते हुए (File Photo)

दिल्ली में पब्लिक ट्रांसपोर्ट में लगभग 30-33 प्रतिशत महिलाएं रोज सफर करती हैं. इस हिसाब से अगर डीटीसी बसों की बात करें तो प्रति वर्ष करीब 200 करोड़ रुपए का खर्च बैठ रहा है. माना जाता है कि बसों की अपेक्षा मेट्रो में महिलाएं अधिक यात्रा करती हैं. इसकी वजह सुरक्षा है.

राजधानी दिल्ली में अगले साल की शुरूआत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी लोकसभा चुनाव में मिली हार से सबक लेते हुए एक के बाद एक फैसले ले रही है. 2015 में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 70 विधानसभाओं में से 67 सीटों पर जीत दर्ज की थी, लेकिन पिछले महीने संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में पार्टी का खाता भी नहीं खुला.

ये भी पढ़ें:

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, हादसा मुक्त बनाएंगे सफर, यात्रियों की सुविधा का रखेंगे ख्याल

सोशल मीडिया पर चर्चा का केंद्र बने प्रताप चंद्र सारंगी ने अपने विरोधियों के लिए कही बड़ी बात
First published: June 3, 2019, 6:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...