अब हज ही नहीं उमरा और ईरान, इराक की ज़ियारत भी कराएगी सरकार!

सूत्रों का ये भी कहना है कि इस संबंध में केन्द्रीय अल्पसख्ंयक मंत्रालय राज्य सरकारों से भी विचार-विमर्श कर चुका है.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: November 21, 2018, 3:54 PM IST
अब हज ही नहीं उमरा और ईरान, इराक की ज़ियारत भी कराएगी सरकार!
फाइल फोटो- हज यात्री.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: November 21, 2018, 3:54 PM IST
हज कमेटी का काम अब सिर्फ हज कराना ही नहीं रह जाएगा. आने वाले दिनों में केन्द्र सरकार हज के साथ ही उमरा, ईरान, इराक और जॉर्डन, सीरिया की भी ज़ियारत करा सकती है. इस योजना पर विचार चल रहा है. इस संबंध में एक प्रस्ताव भी तैयार किया गया है.

बकरीद के मौके पर साल में एक बार हज की यात्रा की जाती है. देश में इस यात्रा को कराने की जिम्मेदारी सरकार ने हज कमेटी को दी हुई है. लेकिन आने वाले दिनों में हज कमेटी के पास और भी काम बढ़ सकता है. केन्द्र सरकार हज कमेटी को हज कराने के साथ ही मुसलमानों द्वारा की जाने वाली दूसरी ज़ियारत (तीर्थयात्रा) की जिम्मेदारी भी दे सकती है.

सूत्रों की मानें तो सरकार आने वाले दिनों में उमरा (सऊदी अरब), ईरान, इराक, जॉर्डन, सीरिया में स्थित मुसलमानों के दूसरे तीर्थस्थल की यात्रा का प्रबंध खुद सरकार करेगी. गौरतलब रहे कि अभी तक ये काम प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स कर रहे हैं. लेकिन ये योजना लागू होने के बाद जो भी मुसलमान इन जगहों की ज़ियारत के लिए जाना चाहता है तो वह हज कमेटी से संपर्क कर सकता है.



सूत्रों का ये भी कहना है कि इस संबंध में केन्द्रीय अल्पसख्ंयक मंत्रालय राज्य सरकारों से भी विचार-विमर्श कर चुका है. इस बारे में जमीअत उलमा ए हिन्द से जुड़े मौलाना उजैर का कहना है, “ये सरकार का एक अच्छा कदम हो सकता है. इससे दूसरी जगहों की ज़ियारत के लिए जाने वाले लोगों को कई तरह की परेशानियों से निज़ात मिलेगी.


Loading...



अक्सर ये देखने में आता है कि बहुत सारे प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स ज़ियारत के पैकेज के नाम पर ठगी करते हैं. लोगों को लाखों रुपये से हाथ धोना पड़ता है.” वहीं दूसरी ओर केन्द्रीय अल्पसख्ंयक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने ट्विटर पर इसका खंडन करते हुए कहा है कि कुछ लोग हज यात्रा से छेड़छाड़ की बात कह रहे हैं जो गलत है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर