बोर्ड ऑफ हायर सेकंडरी एजुकेशन (दिल्ली) को कोई मान्यता नहीं: HRD मंत्रालय

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने शुक्रवार को सूचित किया है कि बोर्ड ऑफ हायर सेकंडरी एजुकेशन, दिल्ली के नाम से चल रहे एक फर्जी बोर्ड ने समूचे देश में 10,000 से अधिक छात्रों के साथ धोखाधड़ी की है

भाषा
Updated: July 26, 2019, 11:55 PM IST
बोर्ड ऑफ हायर सेकंडरी एजुकेशन (दिल्ली) को कोई मान्यता नहीं: HRD मंत्रालय
मंत्रालय ने कहा है कि इस नाम से किसी बोर्ड को कोई मान्यता नहीं दी गई है
भाषा
Updated: July 26, 2019, 11:55 PM IST
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने शुक्रवार को सूचित किया है कि बोर्ड ऑफ हायर सेकंडरी एजुकेशन, दिल्ली के नाम से चल रहे एक फर्जी बोर्ड ने समूचे देश में 10,000 से अधिक छात्रों के साथ धोखाधड़ी की है और इस नाम से किसी बोर्ड को कोई मान्यता नहीं दी गई है.

नहीं जारी किया कोई लेटर
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा, 'ऐसा पता चला है कि बोर्ड ऑफ हायर सेकंडरी एजुकेशन, दिल्ली के नाम से एक संगठन चलाया जा रहा है, जो खुद को हमारे द्वारा मान्यताप्राप्त शिक्षा बोर्ड होने का दावा करता है. इस बारे में संबंधित तथ्यों की जांच-पड़ताल पर यह पता चला है कि ऐसे किसी बोर्ड के पक्ष में हमने ऐसा कोई पत्र जारी नहीं किया है .'

फर्जी और मनगढ़ंत

मंत्रालय के अनुसार, 'इसलिए ये दोनों पत्र पूरी तरह से फर्जी और मनगढ़ंत हैं. स्पष्ट किया जाता है कि उक्त संगठन को मान्यता देने के संदर्भ में मंत्रालय ने ऐसा कोई पत्र कभी भी जारी नहीं किया है.' दिल्ली पुलिस ने पिछले साल दिसंबर में फर्जी बोर्ड चलाने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया था.

क्या कहती है पुलिस
पुलिस ने बताया, 'गिरोह ने उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, छत्तीसगढ़ और अन्य कई राज्यों से 10,000 से अधिक छात्रों के साथ धोखाधड़ी की है. यह फर्जी बोर्ड देश में विभिन्न राज्यों के प्रतिष्ठित संस्थानों से उच्च शिक्षा के दस्तावेज भी उपलब्ध कराता था.' मंत्रालय ने सभी छात्रों, अभिभावकों और अन्य पक्षकारों को फर्जी बोर्ड के साथ किसी भी तरीके से नहीं जुड़ने की सलाह दी है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

आम्रपाली केस: बिल्डर्स-बैंक समेत धोनी भी सवालों के घेरे में

कश्‍मीर: 100 नई कंपनियां तैनात, सरकार ले सकती है बड़ा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 26, 2019, 11:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...