लाइव टीवी
Elec-widget

आईटीओ में BJP पार्षदों के प्रदर्शन से चरमराई ट्रैफिक व्यवस्था, लगा लंबा जाम

News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 3:02 PM IST
आईटीओ में BJP पार्षदों के प्रदर्शन से चरमराई ट्रैफिक व्यवस्था, लगा लंबा जाम
आटीओ में बीजेपी पार्षदों के प्रदर्शन के कारण सड़कों पर जाम लग गया है.

पार्षदों का आरोप है कि एमसीडी का जो पैसा अलग-अलग कामों के लिए आता था उसे केजरीवाल सरकार ने रोक रखा है. इसके चलते उनके इलाके के विकास कार्य रुके हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 3:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली की अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) सरकार के खिलाफ धरना दे रहे बीजेपी (BJP) पार्षद आईटीओ में सड़क पर बैठ गये हैं, जिसके कारण आईटीओं में लंबा जाम लग गया है. पार्षद लगातार केजरीवाल सरकार के खिलाफ नारेबाज़ी कर रहे हैं.

दिल्ली सिविक सेंटर से एमसीडी के तीनों जोन के पार्षद निगम के बकाया पैसे को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. पार्षदों के कहना है कि केजरीवाल सरकार पैसा नहीं दे रही है, जिसके कारण उनके इलाके के विकास कार्य रुके हुए हैं.

पार्षदों का क्या है आरोप
पार्षदों का आरोप है कि एमसीडी का जो पैसा अलग-अलग कामों के लिए आता था उसके केजरीवाल सरकार ने रोक रखा है. पार्षदों को पैसा नहीं मिल रहा, जिसके चलते इलाके के विकास कार्य रुक गये हैं. पार्षदों का आरोप है कि पैसे न होने की वजह से कर्मचारियों की सैलरी तीन महीने से नहीं मिली है. नालियों के रख-रखाव और निर्माण का पैसा नहीं आ रहा है. जिसके कारण नालियां गंदगी से बजबजा रही हैं. नगर निगम के अनुसार करीबन 9195 करोड़ रुपये का बकाया है.

आप सांसदों का BJP सरकार के खिलाफ प्रदर्शन
दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों के मुद्दे पर जो बिल लाया जा रहा है, उसको लेकर आम आदमी पार्टी के सांसदों ने संसद भवन परिसर में विरोध प्रदर्शन किया. आप सांसद सुशील गुप्ता ने आरोप लगाया कि सरकार दिल्ली में सिर्फ दिखावे के लिए यह बिल ला रही है. सैंपल क्या होता है अगर रजिस्ट्री करानी है तो सारी कॉलोनियों का करें. गुप्ता मे कहा कि 2015 से हम इस मुद्दे पर संघर्ष कर रहे थे. हमारे संघर्ष की वजह से ही सरकार को अनधिकृत कॉलोनी के मुद्दे पर बात सुननी पड़ी है.

 ये भी पढ़ें- दिल्ली-एनसीआर में राहत की सांस, पॉल्यूशन के स्तर में आई गिरावट
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 1:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com