उन्नाव गैंगरेप कांड: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पीड़िता को अब तक नहीं मिली CRPF सुरक्षा

एक अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि बलात्कार पीड़िता, उसकी मां, परिवार के अन्य सदस्यों और उनके वकील को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की सुरक्षा मुहैया करायी जाए.

भाषा
Updated: August 10, 2019, 5:46 AM IST
उन्नाव गैंगरेप कांड: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पीड़िता को अब तक नहीं मिली CRPF सुरक्षा
सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव गैंगरेप पीड़िता, उसके परिजनों और वकील को CRPF की सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश दिया था (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: August 10, 2019, 5:46 AM IST
दिल्ली की एक अदालत में शुक्रवार को बताया गया कि उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के आदेश की अवहेलना करते हुए उन्नाव बलात्कार पीड़िता (Unnao rape survivor) के परिजनों को केंद्रीय रिजर्व पुलिस (CRPF) के बदले उत्तर प्रदेश पुलिस (UP police) ही सुरक्षा मुहैया करा रही है. जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने इस संबंध में जांच अधिकारी से शनिवार तक रिपोर्ट पेश करने को कहा है.

उन्नाव बलात्कार पीड़िता (19) और उसके परिजनों के अधिवक्ताओं धर्मेंद्र मिश्र और पूनम कौशिक ने अदालत को बताया कि पीड़िता के पिता की हत्या के गवाह और उसके संबंधी को उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से एक सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराया गया है .

एक अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने दिया था CRPF की सुरक्षा मुहैया कराए जाने का आदेश
एक अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि बलात्कार पीड़िता, उसकी मां, परिवार के अन्य सदस्यों और उनके वकील को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की सुरक्षा मुहैया करायी जाए और इस संबंध में कमांडेंट स्तर का एक अधिकारी अनुपालन रिपोर्ट दाखिल करे.

CBI ने अदालत से बताई थी सेंगर के भाई के पीड़िता के पिता को पीटने की बात
केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने इससे पहले अदालत को बताया था कि बलात्कार पीड़िता के पिता को (बर्खास्त भाजपा विधायक) कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह सेंगर और उसके गुर्गों ने तीन अप्रैल 2018 को सरेआम खौफ पैदा करने के लिए बुरी तरफ पीटा था .

CBI ने सेंगर के खिलाफ कथित तौर पर महिला के साथ बलात्कार के आरोप किए तय
Loading...

सीबीआई ने मामले में दायर एक अन्य आरोप पत्र में कहा कि पीड़िता के पिता को अवैध हथियार रखने के फर्जी मामले में गिरफ्तार किया गया . इसके बाद नौ अप्रैल 2018 को न्यायिक हिरासत में उसकी मौत हो गयी थी .

अदालत ने शुक्रवार को कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ उन्नाव में 2017 में कथित रूप से महिला के साथ बलात्कार करने के मामले में आरोप तय किया.

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया है. पीड़िता को भी इलाज के लिए एम्स लाया गया है. जहां उसका उपचार चल रहा है. घायल पीड़िता के वकील को भी एम्स लाया गया है. वह अभी कोमा में हैं.

यह भी पढ़ें: उन्नाव गैंगरेप केस: MLA सेंगर पर पॉस्को एक्ट में आरोप तय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 10, 2019, 5:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...