लाइव टीवी

DFO बोले-इसलिए सेफ हैं ओखला बर्ड सेंचुरी में देश-विदेश के हजारों पक्षी

News18Hindi
Updated: November 14, 2019, 5:01 PM IST
DFO बोले-इसलिए सेफ हैं ओखला बर्ड सेंचुरी में देश-विदेश के हजारों पक्षी
दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने के बाद भी ओखला बर्ड सेंचुरी में बर्ड की संख्या बढ़ रही है. (Photo Credit-okhla bird sanctuary)

डीएफओ (DFO) प्रमोद सिंह बताते हैं कि सबसे पहले तो हमने उस पानी (Water) को साफ रखने की कोशिश की है जहां पक्षी (Birds) रहते हैं, जहां खाना खाते हैं. इसके लिए बेरीकेटिंग करके जलकुंभी पर रोक लगाई गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2019, 5:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीते दो-तीन दिनों में ही राजस्थान (Rajasthan) की सांभर झील (Sambhar Lake) में देश-विदेश के हजारों पक्षी (Migrant Bird) दम तोड़ चुके हैं. इस घटना के बाद से झील के पानी की जांच शुरु हो गई है. ओखला बर्ड सेंचुरी (Okhla bird sanctuary) में भी सिर्फ विदेश के ही 24 हजार से अधिक पक्षियों ने अपना बसेरा बनाया हुआ है. यमुना नदी (Yamuna River) का पानी होने के चलते पक्षियों के लिए परेशानी बढ़ जाती है. लेकिन इस बारे में प्रभागीय वन अधिकारी (DFO) का कहना है कि हमने कुछ कदम उठाए हुए हैं, जिसके चलते ओखला बर्ड सेंचुरी के पक्षी सेफ हैं. वहीं एक सिर्फ एक एरिया में रहने के चलते प्रदूषण से भी बचे हुए हैं.

ओखला बर्ड सेंचुरी में उठाए गए हैं ये कदम

डीएफओ प्रमोद सिंह बताते हैं कि ओखला बर्ड सेंचुरी में सबसे पहले तो हमने उस पानी को साफ रखने की कोशिश की है जहां पक्षी रहते हैं, जहां खाना खाते हैं. इसके लिए बेरीकेटिंग करके जलकुंभी पर रोक लगाई गई है.

जलकुंभी के साथ कभी-कभी कुछ ऐसी चीज भी आ जाती हैं जो बर्ड के लिए नुकसानदायक होती हैं. पानी में जगह-जगह बर्ड के लिए आइलैंड बनवाए गए हैं. बर्ड पर बराबर निगाह रखी जाती है. एक बर्ड के भी बीमार दिखने पर तुरंत ही दूसरे जरूरी कदम उठाए जाते हैं.

ओखला बर्ड सेंचुरी में विदेशी पक्षी. (Photo Credit-okhla bird sanctuary)


प्रदूषण के बाद भी बढ़ रही है बर्ड की संख्या

डीएफओ प्रमोद सिंह का कहना है कि दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने के बाद भी ओखला बर्ड सेंचुरी में बर्ड की संख्या बढ़ रही है. अगर इसी साल 2019 की बात करें तो 24 हजार से अधिक विदेशी बर्ड आ चुकी हैं. इसमे अलग-अलग तरह की नस्ल वाली आर्कषक बर्ड हैं. 2018 में विदेशी बर्ड की संख्या 15483 थी तो 2017 में ये संख्या 15455 थी. लेकिन इस साल तो विदेशी पक्षियों ने 2015 का 22037 पक्षियों का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है.
Loading...

ओखला बर्ड सेंचुरी का एक सीन. (Photo Credit-okhla bird sanctuary)


गौरतलब रहे कि राजस्थान की सांभर झील में देश-विदेश के हजारों पक्षियों के मरने की खबर आ रही है. बीते दो-तीन दिन में ही 8 हजार से अधिक पक्षी मर चुके हैं. बहुत सारे पक्षी अभी भी बीमार हैं. मरने से पहले पक्षियों को पैरालाइसिस का अटैक आ रहा है.

ये भी पढ़ें-

पुलिस ने चेकिंग के लिए बाइक रोकी तो युवक बोला, ‘मेरा भाई वकील है, जिन्होंने अभी तुम्हें पीटा था’

प्रदूषण से निजात के लिए दिल्ली में खुला ऑक्सीजन बार, 299 रुपये देकर लें 15 मिनट शुद्ध हवा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 5:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...