लाइव टीवी
Elec-widget

JNUSU अध्यक्ष ने लगाया आरोप, पुलिस ने लाठीचार्ज के साथ छात्राओं से अभद्रता भी की

News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 8:02 PM IST
JNUSU अध्यक्ष ने लगाया आरोप, पुलिस ने लाठीचार्ज के साथ छात्राओं से अभद्रता भी की
छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष (JNUSU Aishi Ghosh) ने कहा कि, पुलिस (Police) को लगा कि दो पदाधिकारियों को हिरासत में ले लेने से आंदोलन खत्म हो जाएगा, लेकिन हर छात्र एक नेता है.

छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष (JNUSU Aishi Ghosh) ने कहा कि, 'पुलिस (Police) को लगा कि दो पदाधिकारियों को हिरासत में ले लेने से आंदोलन खत्म हो जाएगा, लेकिन हर छात्र एक नेता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 8:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू (JNU) में बढ़ी हुई पूरी फीस वृद्धि को वापस कराने को लेकर छात्र मंगलवार को भी आंदोलनरत रहे. जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष (JNU Students Union President Aishi Ghosh) ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) पर छात्राओं से अभद्रता करने का आरोप लगाया.



जब तक सारी मांगे पूरी नहीं की जाती, तब तक जारी रहेगा आंदोलन
घोष ने कहा कि, ‘स्टूडेंट शांतिपूर्वक मार्च कर रहे थे. उसके बावजूद हमारे कई साथियों पर लाठी चार्ज किया गया. मौके पर जब पुरुष पुलिसकर्मियों ने छात्राओं को हिरासत में लिया तो उसी दौरान पुरुष पुलिसकर्मियों ने उनसे अभद्रता भी की. एचआरडी मंत्रालय का डेलिगेशन आया तो, हम लोगों ने उन्हें मेमोरेंडम दिया. हम लोगों ने साफ तौर पर मना कर दिया कि जब तक हमारी सभी मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा तब तक आंदोलन जारी रहेगा.’

दिल्ली पुलिस ने छात्रों पर दर्ज किया मुकदमा
दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने छात्रावास शुल्क वृद्धि को लेकर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रों के विरोध प्रदर्शन के सिलसिले में मंगलवार को मुकदमा दर्ज किया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि कानून की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है लेकिन उन्होंने इस संबंध में विस्तृत जानकारी नहीं दी.

30 पुलिसकर्मी और 15 छात्र हो गए थे घायल
Loading...

जेएनयू छात्रों ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया था जिससे शहर के कई हिस्सों में जाम लग गया था. पुलिस के अनुसार आठ घंटे तक चले इस प्रदर्शन के दौरान लगभग 30 पुलिसकर्मी और 15 छात्र घायल हो गए थे.

छात्राओं को हिरासत में क्यों ले रहे हैं पुरुष पुलिसकर्मी
छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष ने सोमवार को कहा था कि, 'उन्होंने जेएनयू से शांतिपूर्ण मार्च निकाला. हम सब एक साथ लड़ रहे हैं. दिल्ली पुलिस परेशान है, जब तक बढ़ा शुल्क और आईएचए नियम वापस नहीं हो जाते, हम अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे.' उन्होंने सवाल उठाया कि पुरुष पुलिसकर्मी छात्राओं को हिरासत में क्यों ले रहे हैं?

ये भी पढ़ें: राज्यसभा में फिर उठा JNU और जम्मू-कश्मीर का मुद्दा, विपक्ष ने किया हंगामा

ये भी पढ़ें: JNU के पूर्व अध्यक्ष का दावा-पुलिस ने दृष्टिहीन छात्र को बूट से रौंदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 4:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...