Exclusive: जिग्नेश मेवाणी की भविष्यवाणी, बताया लोकसभा चुनाव में किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें

बिखरा हुआ विपक्ष मोदी सरकार को कैसे चुनौती देगा? इसके जवाब में जिग्नेश मेवाणी मानते हैं कि विपक्ष के नेता आपसी मतभेदों को भुला नहीं पाए. जिसके कारण मोदी के सामने वो चुनौती नहीं पेश कर पाए, जो विपक्ष को पेश करनी चाहिए थी.

Anil Rai | News18Hindi
Updated: May 8, 2019, 9:21 PM IST
Anil Rai
Anil Rai | News18Hindi
Updated: May 8, 2019, 9:21 PM IST
गुजरात के निर्दलीय विधायक और वहां भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विरोध का चेहरा रहे जिग्नेश मेवाणी का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी को हटाए बिना देश का संविधान नहीं बचाया जा सकता है. न्यूज़18 से बातचीत में जिग्नेश मेवाणी ने दावा किया कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी की हार होगी और मोदी सरकार सत्ता से बाहर चली जाएगी. मेवाणी ने कहा कि संविधान को मानने वाले दल सत्ता में आएंगे.

बिखरा हुआ विपक्ष मोदी सरकार को कैसे चुनौती देगा? इस सवाल के जवाब में जिग्नेश मेवाणी ये मानते हैं कि विपक्ष के नेता आपसी मतभेदों को भुला नहीं पाए. इस वजह से वे मोदी के सामने वैसी चुनौती पेश नहीं कर पाए, जैसी विपक्ष को पेश करनी चाहिए थी. हालांकि उनका दावा है कि उत्तर प्रदेश में एसपी-बीएसपी गठबंधन मोदी का विजय रथ रोकने में कामयाब रहेगा. जिग्नेश का दावा है कि उत्तर प्रदेश में एसपी-बीएसपी गठबंधन को 45 से 50 सीटें मिलेंगी.



कन्हैया कुमार के गठबंधन में शामिल न हो पाने का दुख
हालांकि जिग्नेश को बिहार में कन्हैया कुमार के गठबंधन में शामिल न हो पाने का दुख है. उनका मानना है कि विपक्ष में कुछ ऐसे दल हैं जो अपने छोटे-छोटे स्वार्थ को भुला नहीं पा रहे हैं. देश में मोदी के विरोध में विपक्ष के गठबंधन न मानने को जिग्नेश विपक्ष की असफलता मानते हैं. विपक्ष नोटबंदी को मुद्दा क्यों नहीं बना पाया इस सवाल के जवाब में जिग्नेश का कहना है कि मोदी जी इन मुद्दों पर बात ही नहीं करना चाहते हैं, इसलिए विपक्ष चाहकर भी इस मुद्दे को चुनावी मुद्दा नहीं बना सका.

किसी हालात में बीजेपी के साथ नहीं जाएंगी मायावती
देश की दलित राजनीति के चेहरों पर जिग्नेश की राय अलग-अलग है. रामबिलास पासवान और रामदास अठावले पर जिग्नेश काफी हमलावर हैं, लेकिन मायावती के मुद्दे पर वो उनके गठबंधन के फैसले की तारीफ करते नजर आते हैं. जिग्नेश का दावा है कि प्रधानमंत्री मोदी बीएसपी के खिलाफ बोल नहीं सकते लेकिन माया के बीजेपी के साथ जाने के सवाल पर जिग्नेश को भरोसा है कि मायावती किसी हालात में बीजेपी के साथ नहीं जाएंगी.

दलित चेहरे चंद्रशेखर के सवाल पर चुप्पी
Loading...

उत्तर प्रदेश के युवा दलित चेहरे चंद्रशेखर के सवाल पर जिग्नेश चुप्पी साध जाते हैं. जिग्नेश ये दावा तो करते हैं कि बीजेपी की मोदी सरकार सत्ता से बाहर जा रही है लेकिन विपक्ष कैसे इसे मुमकिन कर पाएगा इस सवाल का जवाब जिग्नेश के पास नहीं है. कन्हैया को एक सीट नहीं देने वाला विपक्ष सत्ता में कैसे भागीदारी करेगा, इस सवाल पर भी जिग्नेश कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं.

कांग्रेस के करीबी समझे जाने वाले जिग्नेश मेवाणी राहुल गांधी की किसानों को हर साल 72 हजार रुपये देने की योजना का समर्थन करने से बचते नजर आए. हालांकि उन्होंने यूपीए-1 और यूपीओ-2 की सरकारों में किसानों के हित में किए गए काम का हवाला देते हुए कांग्रेस को बीजेपी से ज्यादा किसान हितैषी बताने की कोशिश जरूर की. किसानों के मुद्दे पर जिग्नेश मेवाणी बीजेपी पर हमलावर नजर आए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 5 साल में किसानों के हित में कोई काम न करने का आरोप भी लगाया.

ये भी पढ़ें-

शीला दीक्षित के रोड शो में बोलीं प्रियंका गांधी, भाषण दूं या दिल की बात करूं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नफरत करता हूं: अरविंद केजरीवाल

राजीव गांधी पर PM मोदी की टिप्पणी से नाराज युवक ने खून से लिखी चिट्ठी

लोकसभा चुनाव: EVM को लेकर बसपा प्रत्याशी को सताया ये डर, मैदान में लगाया तम्बू

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...