नई दिल्‍ली लोकसभा: कभी बीजेपी तो कभी कांग्रेस ने मारी है बाजी, क्या इस बार AAP खोल पाएगी खाता?

नई दिल्‍ली लोकसभा सीट से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सहित बलराज मधोक, सुचेता कृपलानी, लाल कृष्‍ण आडवाणी, जगमोहन और अजय माकन जैसे बड़े नेता सांसद रहे हैं.

News18Hindi
Updated: May 11, 2019, 1:37 PM IST
नई दिल्‍ली लोकसभा: कभी बीजेपी तो कभी कांग्रेस ने मारी है बाजी, क्या इस बार AAP खोल पाएगी खाता?
नई दिल्‍ली लोकसभा सीट पर किसकी होगी जीत?
News18Hindi
Updated: May 11, 2019, 1:37 PM IST
दिल्ली में लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए चुनाव प्रचार थम चुका है. 2019 के चुनाव में दिल्ली की सबसे वीआईपी सीट नई दिल्ली लोकसभा सीट पर मुकाबला कड़ा है. बीजेपी ने इस सीट पर एक बार फिर मिनाक्षी लेखी को मौका दिया है. लेखी ने 2014 के चुनाव में भी पार्टी को इस सीट पर जीत दिलाई थी. वहीं उनके खिलाफ कांग्रेस ने अजय माकन और आम आदमी पार्टी ने ब्रजेश गोयल को खड़ा किया है.

ये भी पढ़ें- पश्चिमी दिल्‍ली लोकसभा सीट: पुराने महारथी फिर मैदान में, बीजेपी, कांग्रेस या आप किसके खाते में होगी जीत?

नई दिल्‍ली लोकसभा सीट राजधानी की सभी सातों सीटों में सबसे महत्‍वपूर्ण है. दिग्‍गजों की सीट कही जाने वाली इस लोकसभा सीट की एक खासियत यह भी है कि यह हमेशा से ही सिर्फ दो बड़ी राजनीतिक पार्टियों के हाथों में रही है. कभी बीजेपी तो कभी कांग्रेस ने इस सीट पर जीत हासिल की है. यहां से जीतने वाले प्रत्‍याशियों का न केवल पार्टी में बड़ा कद रहा है बल्कि उन्‍होंने जिम्‍मेदार पदों पर काम भी किया है. इस सीट से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सहित बलराज मधोक, सुचेता कृपलानी, लाल कृष्‍ण आडवाणी, जगमोहन और अजय माकन जैसे बड़े नेता सांसद रहे हैं.



ऐसा नहीं है कि इस सीट पर उतारे जाने वाले प्रत्‍याशी सिर्फ बीजेपी या कांग्रेस के ही रहे हैं. दिलचस्‍प है कि बीएसपी, एनसीपी, तृणमूल कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी और आरजेडी सहित तमाम बड़ी पार्टियां अपने-अपने उम्‍मीदवार उतार चुकी हैं. जहां तक 2019 लोकसभा चुनावों की बात है तो अभी तक यहां कांग्रेस-बीजेपी ने अपने उम्‍मीदवारों के नाम घोषित नहीं किए हैं. जबकि आम आदमी पार्टी से बृजेश गोयल उम्‍मीदवार हैं.

लोकसभा क्षेत्र का सामाजिक ताना-बाना

इस संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत 10 विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिनमें करोलबाग, राजिंदर नगर, मालवीय नगर, पटेल नगर, नई दिल्‍ली, आरकेपुरम, मोती नगर, कस्‍तूरबा नगर, ग्रेटर कैलाश और दिल्‍ली कैंट शामिल हैं. भारत निर्वाचन आयोग 2009 की रिपोर्ट के आंकड़ों के मुताबिक, नई दिल्ली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र (निर्वाचन क्षेत्र संख्या 4) में कुल 1,373,146  मतदाता हैं. इनमें से 767,222 वोटर्स पुरुष हैं और बाकी 605,924 महिला वोटर्स हैं. यहां की आबादी 21,753,486 है.
Loading...

1989 से पहले तक यह सीट कांग्रेस के कब्‍जे में रही.


2014 में रहा है मोदी लहर का रहा असर

2014 में नई दिल्‍ली लोकसभा सीट पर बीजेपी की मीनाक्षी लेखी ने विजय हासिल की. बीजेपी ने मीनाक्षी पर पहली बार दांव लगाया था. जबकि कांग्रेस ने 2004 और 2009 में इसी सीट से सांसद रहे अजय माकन को प्रत्‍याशी बनाया था, लेकिन मोदी लहर के चलते बीजेपी उम्‍मीदवार ने 453350 (46.75%) वोटों के साथ बंपर जीत दर्ज की. खास बात रही कि आम आदमी पार्टी ने भी अपने उम्‍मीदवार आशीष खेतान को उतारा था लेकिन वे दूसरे नंबर पर रहे. उन्‍हें 290642 (29.97%) वोट मिले और अजय माकन को तीसरे नंबर पर 182893 (18.86%) वोट मिले.

वेस्ट दिल्ली: महाबल मिश्रा और प्रवेश वर्मा के सामने कितनी बड़ी चुनौती होंगे बलबीर जाखड़?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार