श्रीनगर लोकसभा सीट: आतंक के साए में कामयाबी की मिठास चख पाएंगे फारूक अब्दुल्ला?

लोकसभा चुनाव 2019 में नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के मुख‍िया और वर्तमान सांसद फारूक अब्दुल्ला फ‍िर से मैदान पर हैं. बीजेपी ने श्रीनगर सीट से शेख खाल‍िद जहांगीर को उतारा है. पीडीपी की ओर से शिया नेता आगा सैयद मोहस‍िन मैदान में हैं.

News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 11:05 AM IST
श्रीनगर लोकसभा सीट: आतंक के साए में कामयाबी की मिठास चख पाएंगे फारूक अब्दुल्ला?
नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के मुख‍िया और वर्तमान सांसद फारूक अब्दुल्ला फिर चुनाव लड़ रहे हैं.
News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 11:05 AM IST
श्रीनगर शहर अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है. झीलों और हाउसबोट के लिए जाना जाता है. परंपरागत कश्मीरी हस्तशिल्प और सूखे मेवों के लिए जाना जाता है. पिछले कुछ समय में इस शहर को आतंकवाद के लिए भी जाना जाता है. उम्मीद है कि वह दौर जल्दी खत्म होगा. कहा जाता है कि इस शहर की स्थापना प्रवरसेन द्वितीय ने दो हजार वर्ष पहले की थी. डल झील, शालिमार और निशात बाग़, गुलमर्ग, पहलग़ाम, चश्माशाही जैसी जगहें पर्यटन के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण मानी जाती हैं. श्रीनगर से कुछ दूरी पर ही बहुत पुराना सूर्य मंदिर है. इसके अलावा श्रीनगर में ही शंकराचार्य पर्वत है.

श्रीनगर संसदीय सीट पर 18 अप्रैल को चुनाव हुआ है. यहां पर महज 14.8 फीसदी मतदान हुआ. दूसरे चरण के तहत हुए चुनाव में इस सीट पर सबसे कम वोटिंग हुई थी. करीब 90 मतदान केंद्रों पर किसी भी मतदाता ने वोट नहीं डाला. इनमें से ज्यादातर मतदान केंद्र श्रीनगर के इलाके में स्थित हैं.

कौन हैं प्रत्याशी?
इस संसदीय सीट पर रोचक मुकाबला होने के आसार हैं. लोकसभा चुनाव 2019 में नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के मुख‍िया और वर्तमान सांसद फारूक अब्दुल्ला फ‍िर से मैदान पर हैं. बीजेपी ने श्रीनगर सीट से शेख खाल‍िद जहांगीर को उतारा है. पीडीपी की ओर से शिया नेता आगा सैयद मोहस‍िन मैदान में हैं. सज्जाद लोन की पीपुल्स कॉन्फ्रेंस (पीसी) ने एक युवा शिया कारोबारी इरफान अंसारी को उतारा है. अंसारी हाल ही में पीपुल्स कांफ्रेंस से जुड़े हैं. इसके अलावा नेशनल पैंथर्स पार्टी, जनता दल (यूनाइटेड), श‍िवसेना, राष्ट्रीय जनक्रांत‍ि पार्टी, मानवाध‍िकार नेशनल पार्टी के उम्मीदवारों के साथ तीन न‍िर्दलीय भी चुनाव मैदान में क‍िस्मत आजमा रहे हैं.

पीडीपी भी यहां पर टक्‍कर दे रही है.
पीडीपी भी यहां पर टक्‍कर दे रही है.


पिछले चुनाव का हाल
श्रीनगर लोकसभा सीट, जम्मू और कश्मीर की महत्वपूर्ण सीटों में से एक है. सूबे की राजधानी की इस लोकसभा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला सांसद हैं. वह 2017 के उपचुनाव में जीते थे. 2014 के आम चुनाव के दौरान फारूक अब्दुल्ला को पीडीपी के तारिक हमीद कर्रा ने करारी शिकस्त दी थी. 2016 में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी की हत्या के बाद भड़की हिंसा के दौरान लोगों पर हुए कथित अत्याचार के विरोध में हामिद कर्रा ने इस्तीफा दे दिया था.
Loading...

2017 के उपचुनाव में नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला 10,776 वोटों से जीते थे. उन्हें 48,555 वोट मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्वंदी पीडीपी के नाजिर अहमद खान को 37,779 वोट मिले थे. तीसरे नंबर पर निर्दलीय प्रत्याशी फारूक अहमद दार रहे थे. इससे पहले 2014 के आम चुनाव में पीडीपी के तारिक हामिद कर्रा ने फारूक अब्दुल्ला को 42,281 मतों से मात दी थी. साल 2017 के उपचुनाव में केवल 7.12 फीसदी वोटिंग हुई थी जबकि साल 2014 में इस सीट पर 25.86 फीसदी वोटिंग हुई थी.

यह सीट अब्दुल्ला परिवार के लिए हमेशा से खास रही है. इसे उनकी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस का गढ़ माना जाता है. इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि इस सीट पर उनकी पार्टी ने 10 लोकसभा चुनाव जीते हैं. यहां से फारूक अब्दुल्ला की मां बेगम अकबर जहां अब्दुल्ला और बेटे उमर अब्दुल्ला भी सांसद रह चुके हैं.

इस सीट पर आतंक का साया रहता है.
इस संसदीय क्षेत्र पर आतंक का साया रहता है.


1971 में निर्दलीय प्रत्याशी की जीत के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस ने लगातार चार लोकसभा चुनाव जीते. 1977 में इस सीट से बेगम अकबर जहां अब्दुल्ला सांसद बनीं. इसके बाद 1980 में उनके बेटे फारूक अब्दुल्ला ने इस सीट से जीत दर्ज की. 1984 में अब्दुल राशिक काबुली और 1989 में मोहम्मद शफी भट जीते. 1996 में यह सीट कांग्रेस के खाते में चली गई और गुलाम मोहम्मद मीर मागामी जीते. 1998, 1999 और 2004 में यह सीट फिर से नेशनल कॉन्फ्रेंस के पास आ गई और तीनों बार उमर अब्दुल्ला सांसद बने. इसके बाद 2009 में इस सीट से फारूक अब्दुल्ला उतरे और जीते, लेकिन 2014 का चुनाव वह हार गए.

सामाजिक समीकरण
श्रीनगर लोकसभा सीट के तहत 15 विधानसभा सीटें आती हैं. नेशनल कॉन्फ्रेंस के पास सात और पीडीपी के पास आठ सीटें हैं. इस सीट पर 12 लाख 95 हजार रजिस्टर्ड मतदाता हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार