सुरेंद्रनगर लोकसभा सीट: इस सीट पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच है जबरदस्त टक्कर

2019 के चुनाव में बीजेपी ने अपने मौजूदा सांसद देवजी भाई का टिकट काटकर महेंद्र मुंजपरा को चुनाव मैदान में उतारा है. उनके मुकाबले में कांग्रेस ने सोमा भाई पटेल को ही फिर से मौका दिया है. बीएसपी के टिकट पर यहां से शैलेश सोलंकी चुनाव लड़ रहे हैं. एनसीपी ने घोघाभाई परमार को टिकट दिया है.

News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 12:44 PM IST
सुरेंद्रनगर लोकसभा सीट: इस सीट पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच है जबरदस्त टक्कर
सुरेंद्रनगर लोकसभा सीट पर कांग्रेस और बीजेपी में घमासान है.
News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 12:44 PM IST
गुजरात की सुरेंद्रनगर लोकसभा सीट पर बीजेपी का कब्जा है. यहां से देवजी भाई सांसद हैं. 2014 के चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के सोमाभाई पटेल को शिकस्त दी थी. 2019 के चुनाव में बीजेपी ने अपने मौजूदा सांसद देवजी भाई का टिकट काटकर महेंद्र मुंजपरा को चुनाव मैदान में उतारा है. उनके मुकाबले में कांग्रेस ने सोमा भाई पटेल को ही फिर से मौका दिया है. बीएसपी के टिकट पर यहां से शैलेश सोलंकी चुनाव लड़ रहे हैं. एनसीपी ने घोघाभाई परमार को टिकट दिया है.

विश्व हिंदू परिषद के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया की पार्टी हिंदुस्तान निर्माण दल ने यहां से दावजी देकावाडियो को उतारा है. उनके चुनाव मैदान में उतरने से बीजेपी के वोटों पर असर पड़ सकता है. सौराष्ट्र इलाके में पड़ने वाले इस क्षेत्र में कोली समुदाय के सबसे ज्यादा वोटर्स हैं. इस बार सुरेंद्रनगर सीट से सबसे ज्यादा 31 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं.



2014 के चुनाव का हाल
2014 के चुनाव में बीजेपी देवजीभाई गोविंदभाई ने जीत हासिल की थी. उन्होंने 2 लाख वोटों से भी ज्यादा के अंतर से कांग्रेस के सोमाभाई पटेल को शिकस्त दी थी. देवजीभाई ने कुल 5 लाख 29 हजार 3 वोट हासिल किए थे. जबकि सोमाभाई पटेल को 3 लाख 26 हजार 96 वोट मिले थे.

इस लोकसभा सीट से प्रवीण तोगड़‍िया ने भी अपना उम्‍मीदवार उतारा है.
इस लोकसभा सीट से प्रवीण तोगड़‍िया ने भी अपना उम्‍मीदवार उतारा है.


सुरेंद्रनगर सीट का राजनीतिक इतिहास
इस सीट पर 1962 में हुए पहले चुनाव में कांग्रेस के घनश्यामभाई छोटालाल
की जीत हुई. 1967 के चुनाव में यहां से स्वतंत्र पार्टी के उम्मीदवार मेघराजजी ने जीत हासिल की. 1971 के चुनाव में कांग्रेस के रसिकलाल पारिख यहां से जीतकर संसद पहुंचे. इमरजेंसी के बाद हुए 1977 के चुनाव में यहां से जनता पार्टी को कामयाबी मिली और आरके अमिन सांसद चुने गए.
Loading...

1989 और 1991 के चुनाव में लगातार दो बार इस सीट से बीजेपी के सोमाभाई पटेल सांसद चुने गए. 1996 के चुनाव में कांग्रेस के सनत मेहता की विजय हुई. 1998 में बीजेपी ने बाजी मारी और भावना दवे सांसद बनी. 1999 के चुनाव में कांग्रेस के सवशीभाई मकवाना ने जीत हासिल की.

पिछली बार इस सीट पर बीजेपी को जीत मिली.
पिछली बार इस सीट पर बीजेपी को जीत मिली.


2004 का चुनाव सोमाभाई पटेल ने बीजेपी के टिकट पर लड़कर जीते और सांसद बने. अगले चुनाव (2009) में वो कांग्रेस के टिकट पर लड़े और जीत हासिल की. लेकिन 2014 के चुनाव में बीजेपी के देवजीभाई के हाथों हार गए.

सुरेंद्रनगर लोकसभा सीट के अंतर्गत विधानसभा की 7 सीटें आती हैं. इनमें विरंगम, लिंबड़ी, ध्रांगध्रा, धांधुका, वाधवां, दसाडा और चोटिला विधानसभा सीटें शामिल हैं. दसाडा सीट एससी वर्ग के लिए आरक्षित है. इस लोकसभा सीट पर कोली समुदाय का असर है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार