नई लोकसभा में सांसदों को पहली बार में ही मिलेगा परमानेंट आईडी कार्ड

इससे पहले के सत्र में जब चुने गए सांसद पहली बार संसद आते थे तो उन्हे पहले टेंपरेरी आईडी दी जाती थी, जिसके कुछ महीनों बाद उन्हे परमानेंट आईडी दी जाती थी.

अमित पांडेय | News18India
Updated: May 22, 2019, 8:15 PM IST
नई लोकसभा में सांसदों को पहली बार में ही मिलेगा परमानेंट आईडी कार्ड
नई लोकसभा में सांसदों को फौरन मिलेगी परमानेंट आईडी
अमित पांडेय
अमित पांडेय | News18India
Updated: May 22, 2019, 8:15 PM IST
चुनाव परिणाम को लेकर अलग-अलग जगह पर अपने-अपने स्तर पर तैयारी की जा रही है, जिसमें राजनीतिक पार्टियां, चुनाव आयोग व अन्य कई संस्था हैं. इनमें से एक लोकसभा सचिवालय यानि पार्लियामेंट सेकेट्रिएट भी है, जहां चुने गए सांसद आएंगे और अपने रजिस्ट्रेशन कराएंगे. रजिस्ट्रेशन के बाद ही वो संसद सत्र में हिस्सा ले पाएंगे.

वैसे तो ये सामान्य प्रक्रिया है, जो हर सत्र के गठन के बाद की जाती है. लेकिन इस बार चुने गए सांसदों के लिए पहली बार एक नई व्यवस्था की गई है. ये है हाथों-हाथ परमानेंट आईईडी कार्ड का बन जाना. इससे पहले के सत्र में जब चुने गए सांसद पहली बार संसद आते थे तो उन्हे पहले टेंपरेरी आईडी दी जाती थी, जिसके कुछ महीनों बाद उन्हे परमानेंट आईडी दी जाती थी. लेकिन इस नए सत्र में सांसदों को उसी वक्त परमानेंट आईईडी मिल जाएगी. अन्य प्रकिया जैसे सर्टिफिकेट वेरिफिकेशन, फोटोग्राफ, डेस्क रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को और सरल बनाया गया है ताकि काम जल्दी हो सके.



parliament
आईडी कार्ड फौरन जारी करने की तैयारी पूरी. Photo: News 18


इसके अलावा अपने 56 नुमाइंदों की ड्यूटी लोकसभा सचिवालय ने देशभर में लगाई है. चुने गए सांसदों की दिल्ली आकर प्रक्रिया पूरी करने में मदद करेंगे. यही नहीं जो भी जरूरी प्रक्रिया नए सांसदों को पूरी करनी हो, उसमें कागज का इस्तेमाल न हो, इसके लिए लोकसभा सचिवालय को पेपरलेस बनाने की दिशा में काम चल रहा है.

अपने WhatsApp पर पाएं लोकसभा चुनाव के लाइव अपडेट्स

ये भी पढ़ें-

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने में लग सकते हैं 2-3 दिन, दोपहर तक मिलेंगे शुरुआती रुझान
Loading...

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...