दिल्ली में नए तरीके से लूट रहे हैं साउथ इंडिया के बदमाश, मोटी रकम मिलने पर करते हैं यह काम

लूट का तरीका भी ऐसा निकाला कि लुटने वाला एक बार को तो हक्का-बक्का ही रह जाता है. और इसी का फायदा उठाकर साउथ के बदमाशों की यह टोली रूपये-गहने लूटकर फरार हो जाती थी.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 8:19 AM IST
दिल्ली में नए तरीके से लूट रहे हैं साउथ इंडिया के बदमाश, मोटी रकम मिलने पर करते हैं यह काम
फाइल फोटो- दिल्ली पुलिस ने तमिलनाड़ से दिल्ली आकर लूट करने वाले एक गिरोह का खुलासा किया है.
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 8:19 AM IST
अभी तक आप सुनते थे कि यूपी, बिहार, हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश के बदमाश साउथ और वेस्ट के राज्यों में जाकर लूटपाट करते थे. लेकिन दिल्ली पुलिस ने लूटपाट करने वाले एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो तमिलनाडु से आकर लूटपाट करता था. इतना ही नहीं लूट का तरीका भी ऐसा निकाला कि लुटने वाला एक बार को तो हक्का-बक्का ही रह जाता है. और इसी का फायदा उठाकर साउथ के बदमाशों की यह टोली रूपये-गहने लूटकर फरार हो जाती थी.

टॉर्च से लगाते हैं करंट और फिर...

गिरोह के सरगना प्रिंस विनोद ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि इससे पहले वो सड़क पर नोट गिराकर तो कभी तेल फैलाकर लूट करते थे. लेकिन हाल ही में उन्होंने आनलाइन एक टॉर्च खरीदी है. यह टॉर्च बटन दबाते ही शॉक देती है. बिजली का शॉक लगते ही सामने वाला थोड़ी देर के लिए घबरा जाता है. बस उसकी इसी घबराहट का फायदा उठाकर उससे माल छीन लेते हैं. हाल ही में कमला मार्केट में दवा कंपनी के एक कर्मचारी से इसी तरह से 21 लाख रुपये लूटे थे.

लूट के माल में से हिस्सा निकालकर मांगते थे माफी

विनोद ने पुलिस को बताया कि लूट में मोटा माल हाथ लगने पर वो राजस्थान में बालाजी के मंदिर जाते थे. लूट की रकम का एक हिस्सा भगवान को चढ़ाते थे. साथ ही पूजा-पाठ कर भगवान से इस अपराध के लिए माफी भी मांगते थे. और इसके तुरंत बाद दूसरी लूट की योजना तैयार करने में लग जाते थे.

loot with new technique by south indian in delhi
प्रतीकात्मक फोटो- साउथ इंडिया का यह गिरोह दिल्ली में बाइक और स्कूटी से लूट करता था.


पुलिस ने इस तरह से पकड़ी बदमाशों की टोली
Loading...

पुलिस के अनुसार कमला मार्केट में हुई 21 लाख रुपये की लूट की 70 सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई. तब जाकर लूट में शामिल एक यामहा बाइक के नम्बर में बीच में एसवी और आखिर में 41 था. इस तरह की बाइकों की डिटेल निकाली गई तो 200 बाइक सामने आईं. सभी के मालिक को तलाशा गया तो उसमे एक प्रिंस विनोद के नाम की बाइक थी. लूट वाले दिन पास के मोबाइल टावर से नम्बर उठाए गए तो उसमे भी एक नम्बर विनोद का निकला. बस इसी आधार पर विनोद से पूछताछ हुई तो उसने सब कुछ सच-सच बता दिया. इससे पहले यह बदमाश कभी नहीं पकड़े गए हैं.

तीन बदमाशों के घर से लाखों का माल बरामद

पुलिस के अनुसार गिरोह के तीन बदमाशों के घरों पर दबिश दी गई तो इनके घरों से 15.30 लाख रुपये. 8 लाख रुपये के जेवरात, 20 महंगी घड़ियां, एक कार, एक बाइक और एक स्कूटी मिली. गिरोह मुम्बई, गुजरात, राजस्थान, हरियाणा और यूपी में भी लूट करने जाता था.

गहने पसंद आने पर बेटी के लिए जमा कर रहा था

विनोद के घर से नई और पुरानी लूट के करीब 8 लाख रुपये के जेवरात बरामद हुए हैं. विनोद ने बताया कि उसके एक बेटी है. लूटे गए जेवरात में उसे जो जेवर पसंद आता था उसे वो बेटी की शादी के लिए रख लेता था.

ये भी पढ़ें- देश के पहले मुस्लिम एयर फोर्स चीफ जिन्होंने 1971 में पाक को सिखाया सबक

बंद हो गया 17 साल पुराना डासना टोल प्लाजा, जाम से मिलेगी राहत

दिव्यांग की गांजा तस्करी के तरीके को देखकर पुलिस भी रह गई हैरान
First published: July 30, 2019, 8:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...