लाइव टीवी

निर्भया गैंगरेप मामला: उपराज्‍यपाल ने ठुकराई दोषी मुकेश की दया याचिका, अब राष्‍ट्रपति से ही आस

News18India
Updated: January 16, 2020, 12:24 PM IST
निर्भया गैंगरेप मामला: उपराज्‍यपाल ने ठुकराई दोषी मुकेश की दया याचिका, अब राष्‍ट्रपति से ही आस
उपराज्यपाल ने निर्भया गैंगरेप के दोषी की दया याचिका खारिज कर दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Nirbhaya Gang Rape Case: दिल्ली के उपराज्यपाल (Delhi LG) अनिल बैजल ने निर्भया गैंगरेप के दोषी मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी है. इसे गृह मंत्रालय के पास भेज दिया गया है.

  • News18India
  • Last Updated: January 16, 2020, 12:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. निर्भया गैंगरेप और हत्‍या मामले में बड़ी खबर सामने आई है. दिल्‍ली सरकार के बाद अब दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल अनिल बैजल ने भी निर्भया के गुनहगार मुकेश की दया याचिका ठुकरा दी है. अब उसकी याचिका गृह मंत्रालय के पास जाएगी और वहां से उसे राष्‍ट्रपति के पास भेजा जाएगा. मुकेश की दया याचिका पर अब राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ही अंतिम फैसला लेंगे.

ट्रायल कोर्ट ने 22 जनवरी तय की है फांसी की तिथि
निर्भया सामूहिक दुष्‍कर्म और हत्‍या मामले में ट्रायल कोर्ट ने 22 जनवरी की तारीख तय की है. हालांकि, इससे पहले चार में से एक दोषी मुकेश सिंह ने दिल्‍ली हाई कोर्ट में निचली अदालत की ओर से जारी डेथ वारंट को चुनौती दी थी. उच्‍च न्‍यायालय ने तल्‍ख टिप्‍पणियों के साथ उसे निचली अदालत में अर्जी दाखिल करने को कहा था. इसके बाद मुकेश ने 15 जनवरी को पटियाला हाउस कोर्ट में डेथ वारंट के खिलाफ अर्जी दाखिल की है.

दिल्‍ली सरकार ने ठुकरा दी थी मुकेश की अपील

दिल्‍ली हाई कोर्ट के सख्‍त तेवर के बाद मुकेश ने दिल्‍ली सरकार के समक्ष दया की अर्जी भेजी थी. दिल्‍ली सरकार ने तत्‍काल उसकी याचिका को ठुकराते हुए उपराज्‍यपाल अनिल बैजल के पास भेज दी थी. गुरुवार को दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल ने भी मुकेश की दया याचिका को खारिज करने की सिफारिश के साथ उसे गृह मंत्रालय के पास भेज दिया.

निर्भया की मां बोलीं- सात वर्षों से कर रही संघर्ष
मालूम हो कि डेथ वारंट पर रोक लगाने की मांग को लेकर दोषी करार मुकेश ने पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी दायर की. इस पर निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि वह पिछले सात वर्षों से संघर्ष कर रही हैं. बता दें कि निर्भया कांड के सभी चारों दोषियों की याचिका सुप्रीम कोर्ट से तीन बार खारिज हो चुकी है. शीर्ष अदालत मुकेश की क्‍यूरेटिव पिटीशन भी खारिज कर चुकी है. इसके बाद उसने निचली अदालत की ओर से जारी डेथ वारंट को दिल्‍ली हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. हाई कोर्ट ने सख्‍त टिप्‍पणियों के साथ उसे निचली अदालत में जाने का निर्देश दिया था.

ये भी पढ़ें: निर्भया कांड: गर्दन की नाप लेते ही फूट-फूट कर रोने लगे चारों दोषी, चुप कराने के लिए बुलाने पड़े काउंसलर

निर्भया कांड: कोर्ट में बोले दिल्‍ली सरकार के वकील- दया याचिका के कारण 22 जनवरी को नहीं दी जा सकती दोषियों को फांसी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 12:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर