नई दिल्ली लोकसभा नतीजे: जिनके कारण राहुल को मांगना पड़ी थी माफी, दोबारा संसद जाएंगी वो मीनाक्षी लेखी

नई दिल्ली लोकसभा नतीजे (New Delhi Election Result): मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi)

News18Hindi
Updated: May 23, 2019, 10:18 PM IST
नई दिल्ली लोकसभा नतीजे: जिनके कारण राहुल को मांगना पड़ी थी माफी, दोबारा संसद जाएंगी वो मीनाक्षी लेखी
मीनाक्षी लेखी
News18Hindi
Updated: May 23, 2019, 10:18 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में नई दिल्ली संसदीय सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) प्रत्याशी मीनाक्षी लेखी की भारी बढ़त के बाद स्पष्ट है कि उनकी जीत तय है. लेखी के सामने आम आदमी पार्टी (AAP) के बृजेश गोयल और कांग्रेस अजय माकन की चुनौती है. 23 मई को जारी मतगणना के दौरान रुझानों में लेखी लगातार बढ़त बनाए रहीं और निकटतम प्रतिद्वंद्वी माकन से रात दस बजे तक ढाई लाख से ज़्यादा वोटों से आगे दिखीं. गौरतलब है कि दिल्ली की सभी सातों लोकसभा सीटों पर बीजेपी काबिज़ हो रही है, नई दिल्ली समेत सभी की औपचारिक घोषणा की जाएगी.

मीनाक्षी लेखी पेशे से एक वकील हैं. सेना में महिलाओं के परमानेंट कमीशन के लिए लेखी ने सुप्रीम कोर्ट में पैरवी की थी. साथ ही निर्भया गैंगरेप मामले में मीडिया कवरेज पर प्रतिबंध लगाने के लिए अदालत में दायर याचिका के लिए मीडिया का प्रतिनिधित्व किया था. मीनाक्षी लेखी राष्ट्रीय महिला आयोग की विशेष समिति की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं.

बता दें कि मीनाक्षी लेखी साल 1990 में वकालत के पेशे से जुड़ीं. पिछले लोकसभा चुनाव में नई दिल्ली संसदीय सीट से कांग्रेस के दिग्गज नेता अजय माकन और आप के आशीष खेतान को हरा कर मीनाक्षी लेखी चर्चा में आई थीं. इस लोकसभा चुनाव से ठीक पहले भी मीनाक्षी लेखी तब चर्चा में आई थीं, जब उनके एक पेटिशन पर सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को कड़ी फटकार लगाई.

बता दें कि राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए पीएम मोदी पर गलत टिप्पणी की थी. सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में अपने बयान पर माफी मांग लिया था.

साल 2012 में दिल्ली में निर्भया गैंगरेप मामले में केंद्र सरकार ने जो आपराधिक कानून(संसोधन) विधेयक 2013 के मसौदा समिति का गठन किया था, उस समिति के प्रमुख सदस्यों में मीनाक्षी लेखी भी एक थीं.

लेखी महिलाओं और बच्चों को न्याय दिलाने के लिए कई सामाजिक गितिविधियों से जुड़ी हुई हैं. मीनाक्षी लेखी आरएसएस से जुड़े संगठन स्वदेशी जागरण मंच के साथ भी काम कर चुकी हैं. ऐसा कहा जाता है कि बीजेपी अध्य़क्ष नितिन गडकरी ने लेखी को बेजेपी में शामिल कराया था.

मीनाक्षी लेखी बीजेपी महिला मोर्चा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के साथ पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता जैसे पदों पर भी काम कर चुकी हैं. लेखी पार्टी की तरफ से टेलीविजन डिबेट्स में भी बढ़-चढ़ कर भाग लेती हैं. 20 जुलाई को 2016 को लेखी को विशेषाधिकार समिति की अध्यक्ष बनाया गया. मौजूदा लोकसभा चुनाव में मीनाक्षी लेखी को एक बार फिर से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन ने कड़ी चुनौती मिल रही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2019, 10:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...