विधानसभा कमेटी के सामने पेश हुए आप के बागी विधायक, स्पीकर की भूमिका पर उठाए सवाल

दोनों ही विधायकों ने कहा कि रामनिवास गोयल के स्‍थान पर कोई निष्पक्ष पीठ इस मामले की सुनवाई करे तो अच्छा होगा. उन्होंने बताया कि स्पीकर खुद ही आप के कार्यकर्ता हैं ऐसे में उन्हें इस मामले की सुनवाई का हक नहीं है.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 10:58 AM IST
विधानसभा कमेटी के सामने पेश हुए आप के बागी विधायक, स्पीकर की भूमिका पर उठाए सवाल
दोनों ही विधायकों ने कहा कि रामनिवास गोयल के स्‍थान पर कोई निष्पक्ष पीठ इस मामले की सुनवाई करे तो अच्छा होगा. उन्होंने बताया कि स्पीकर खुद ही आप के कार्यकर्ता हैं ऐसे में उन्हें इस मामले की सुनवाई का हक नहीं है.
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 10:58 AM IST
आम आदमी पार्टी के बागी विधायक अनिल बाजपेयी और देवेंद्र सहरावत गुरुवार को विधानसभा कमेटी के सामने पेश हुए. इस दौरान दोनों ने कमेटी के सामने अपने पक्ष रखे. दोनों विधायकों पर आरोप है कि उन्होंने चुपचाप बीजेपी की सदस्यता ले ली. यह आरोप लगने के बाद दोनों विधायकों को स्पीकर ने नोटिस जारी कर पूछा था कि क्यों न विधानसभा से उनकी सदस्यता को रद्द कर दिया जाए. इसके बाद दोनों ही विधायकों ने अपने वकीलों के साथ कमेटी के सामने अपना पक्ष रखा.

स्पीकर की भूमिका पर उठाए सवाल
बाजपेयी और सहरावत के वकीलो ने कमेटी के समक्ष बहस के दौरान स्पीकर रामनिवास गोयल की भूमिका पर ही सवाल खड़े कर दिए. उन्होंने कहा कि मामले को तटस्‍थ तरीके से नहीं देखा गया है. दो घंटे तक चली बहस के बाद मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया गया है. अब सुनवाई 9 जुलाई को होना तय किया गया है.

निष्पक्ष पीठ करे मामले की सुनवाई

दोनों ही विधायकों ने कहा कि रामनिवास गोयल के स्‍थान पर कोई निष्पक्ष पीठ इस मामले की सुनवाई करे तो अच्छा होगा. उन्होंने बताया कि स्पीकर खुद ही आप के कार्यकर्ता हैं ऐसे में उन्हें इस मामले की सुनवाई का हक नहीं है. सहरावत ने कहा कि केजरीवाल जब स्वयं चुनाव आयोग की भूमिका पर सवा उठाते हैं तो उन्हें अपने स्पीकर की भूमिका पर भी विचार करना चाहिए.

सौरभ ने की थी शिकायत
विधायक सौरभ भारद्वाज ने दोनों विधायकों को खिलाफ शिकायत दर्ज की थी. आप के विधायक सौरभ ने कहा था कि सहरावत बीजेपी के प्रचार प्रसार में सम्मिलित हो रहे हैं साथ ही वे उनके कामकाज में भी शामिल हैं. कई कार्यक्रमों में उन्होंने बीजेपी के नेताओं के साथ मंच भी साझा किया है. इस दौरान सहरावत ने कहा था कि उन्होंने किसी भी पार्टी की सदस्यता नहीं ली है.
Loading...

ये भी पढ़ें- मुस्लिमों पर फिर मेहरबान हुए पीएम मोदी, योजनाओं की लगाई झड़ी

हज यात्रियों का पहला जत्था रवाना, पीएम मोदी की पहल पर मिला अंतरराष्ट्रीय यात्री का दर्जा

अब पुलिसकर्मियों के बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के लिए हर महीने 3000 रुपये देगी मोदी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 10:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...