दिल्ली के चांदनी चौक में पार्किंग को लेकर झगड़े ने लिया सांप्रदायिक रंग, मंदिर में तोड़फोड़

दिल्‍ली के हौज काजी में पार्किंग मुद्दे को लेकर कुछ विवाद और झगड़े के बाद अलग-अलग समुदायों के दो समूहों के बीच तनाव उत्पन्न हो गया.

पीटीआई
Updated: July 2, 2019, 10:48 AM IST
दिल्ली के चांदनी चौक में पार्किंग को लेकर झगड़े ने लिया सांप्रदायिक रंग, मंदिर में तोड़फोड़
विवाद के बाद दोनों पक्षों के लोग शांति के लिए आगे आए हैं.
पीटीआई
Updated: July 2, 2019, 10:48 AM IST
पुरानी दिल्ली के चावड़ी बाजार क्षेत्र में एक स्कूटर खड़ा करने को लेकर हुए झगड़े ने सांप्रदायिक रंग ले लिया. विवाद खड़ा होने के बाद यहां असामाजिक तत्वों द्वारा एक धर्मस्‍थल (मंदिर) में तोड़फोड़ की गई. इस घटना को लेकर सोमवार को भी पूरे क्षेत्र में तनाव रहा. पुलिस ने बताया कि चावड़ी बाजार के लाल कुआं क्षेत्र में किसी अप्रिय घटना को टालने के लिए सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

ये था मामला
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह घटना रविवार देर रात उस समय हुई जब आस मोहम्मद नाम का युवक एक इमारत के बाहर अपना स्कूटर खड़ा कर रहा था. इसे लेकर वहां रहने वाले संजीव गुप्ता ने आपत्ति जतायी. संजीव की पत्नी बबीता ने बताया कि जब उनके पति ने स्टॉल के पास स्कूटर खड़ा करने पर आपत्ति की तो उस वक्त आस मोहम्मद वहां से चला गया. लेकिन बाद में वो कुछ और लोगों के साथ आया और उसने तोड़फोड़ और मारपीट की. बताया जा रहा है कि जो लोग उसके आए थे उन सबने शराब पी रखी थी.

दोनों तरफ से लगे आरोप

इस मामले में दोनों पक्ष अलग-अलग दावे कर रहे हैं. 27 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर साकिब ने कहा कि जब मोहम्मद की पिटाई कर दी गई तो उसने और उसके परिवार के अन्य सदस्यों ने थाने पहुंचकर मामला दर्ज कराया.

इस घटना से जुड़े एक वीडियो में पार्किंग विवाद को लेकर कुछ लोग एक युवक की कथित रूप से पिटाई करते दिख रहे हैं. इलाके में रहने वाले आकिब हसन ने कहा, ‘जब मोहम्मद ने अपना स्कूटर खड़ा किया तो संजीव गुप्ता ने उससे कहा कि वो अपना स्कूटर कहीं और ले जाए, नहीं तो वो उसे आग लगा देंगे. इसके बाद दोनों का झगड़ा हो गया, जिसमें गुप्ता और कुछ अन्य लोगों ने मोहम्मद को इमारत के अंदर खींचकर उसकी पिटाई कर दी.'

पुलिस दोनों पक्षों को ले गई थाने
Loading...

झगड़ा बढ़ने पर स्थानीय लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम को फोन कर दिया. इसके बाद वहां पहुंची पुलिस मोहम्मद और संजीव गुप्ता दोनों को थाने ले आई. साकिब ने दावा किया, ‘जब मोहम्मद और गुप्ता पुलिस थाने में थे, कुछ अज्ञात व्यक्ति मंदिर के बाहर एकत्रित हो गए और उसमें तोड़फोड़ की. इससे क्षेत्र में तनाव पैदा हो गया.’

बहरहाल, सोमवार को यहां तोड़फोड़ के निशान दिखे. इसमें मंदिर का शटर क्षतिग्रस्त दिखा, मूर्तियों को भी तोड़फोड़ दिया गया था. दिन के समय दोनों पक्षों ने नारेबाजी की तथा इससे तनाव और बढ़ गया. पुलिस ने इलाके में कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा बढ़ा दी है.

पुलिस उपायुक्त (मध्य) मंदीप सिंह रंधावा ने ट्वीट किया, ‘हौज काजी में पार्किंग मुद्दे को लेकर कुछ विवाद और झगड़े के बाद अलग-अलग समुदायों के दो समूहों के बीच तनाव उत्पन्न हो गया. हमने विधिक कार्रवाई की है और भावनाओं को शांत करने तथा सौहार्द्र के लिए सभी प्रयास किये जा रहे हैं. लोगों से सामान्य स्थिति बहाली में मदद का अनुरोध किया जाता है.’



हालांकि इस विवाद से क्षेत्र का माहौल खराब होने के बाद दोनों ही पक्षों के कुछ लोग अब शांति कायम करने के लिए आगे आए हैं.

ये भी पढ़ें-

महाराष्ट्र में आफत की बारिश, सरकार ने किया स्‍कूल और ऑफिस बंद करने का ऐलान
First published: July 2, 2019, 9:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...