छात्रा का आरोप, 'हिजाब के चलते नहीं देने दी UGC NET की परीक्षा

छात्रा ने ट्वीट करके कहा है, 'इन अतिराष्ट्रवादी सरकारी कर्मियों ने मुझे नेट जेआरएफ की 20 दिसम्बर, 2018 को हुई परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया.'

भाषा
Updated: December 23, 2018, 9:18 AM IST
छात्रा का आरोप, 'हिजाब के चलते नहीं देने दी UGC NET की परीक्षा
प्रतीकात्मक तस्वीर
भाषा
Updated: December 23, 2018, 9:18 AM IST
जामिया मिलिया इस्लामिया की एक छात्रा ने आरोप लगाया है कि जब वह गुरुवार को यूजीसी-नेट परीक्षा में शामिल होने पहुंची तो हिजाब पहनने की वजह से उसे परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया. एमबीए की छात्रा उम्मैया खान का दावा है कि जब वह रोहिणी इलाके में बने परीक्षा केंद्र पर पहुंचीं तो उससे कहा गया कि वह अपना हिजाब उतार दे.

छात्रा ने ट्वीट करके कहा है, 'संविधान में साफ लिखा है कि हम किसी भी धर्म का पालन करने के लिए स्वतंत्र हैं लेकिन इन अतिराष्ट्रवादी सरकारी कर्मियों ने मुझे नेट जेआरएफ की 20 दिसम्बर, 2018 को हुई परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया. क्योंकि मैं उन्हें समझा रही थी कि मुझे अपना सिर ढकने की अनुमति दी जाए और यह मेरे धर्म में है.



ये भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं बुर्के, नकाब और हिजाब में फर्क?

जामिया के मानद निदेशक और प्रोफेसर डा. अमीरूल हसन ने बताया कि इस बारे में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को पत्र लिखा गया है.

ये भी पढ़ें: लंदन के स्कूल की सरकार से अपील, स्कूलों में हिजाब और रोजा रखने पर लगे 'बैन'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...