लाइव टीवी

NIA ने लश्कर-ए-तैयबा के लिए धन जुटाने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार

पीटीआई
Updated: November 12, 2019, 5:26 AM IST
NIA ने लश्कर-ए-तैयबा के लिए धन जुटाने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार
एनआईए (NIA) की जांच से पता चला है कि इस आतंकी (Terrorist) फंड का इस्तेमाल देश के विभिन्न हिस्सों से लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के लिए आतंकवादियों की भर्ती करने और आसान लक्ष्यों की पहचान करने के लिए किया जाता था.

एनआईए (NIA) की जांच से पता चला है कि इस आतंकी (Terrorist) फंड का इस्तेमाल देश के विभिन्न हिस्सों से लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के लिए आतंकवादियों की भर्ती करने और आसान लक्ष्यों की पहचान करने के लिए किया जाता था.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सोमवार को देश में आतंकवादी गतिविधियों को प्रायोजित करने के लिए हवाला चैनलों के माध्यम से लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के लिए धन जुटाने के आरोपी एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. गिरफ्तार किए गए व्यक्ति का नाम जावेद (40) है, जिसे रविवार को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है.

नईम के खिलाफ दायर किया जा चुका है आरोप पत्र
जावेद ने लश्कर-ए-तैयबा के संचालक शेख अब्दुल नईम उर्फ सोहेल खान के लिए धन जुटाने में कथित भूमिका निभाई थी. नईम को देश में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए आपराधिक साजिश रचने के आरोप में पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है और उसके खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया जा चुका है.

चार अन्य आरोपियों की पहचान कर ली गई है

एनआईए अधिकारियों ने बताया कि मामले के पांच आरोपी- नईम, बेदार बख्त, तौसीफ अहमद मलिक, दिनेश गर्ग उर्फ ​​अंकित गर्ग और आदिश कुमार जैन को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. एजेंसी ने कहा कि चार अन्य आरोपी जिनकी पहचान अमजद उर्फ ​​रेहान, हबीब-उर-रहमान, गुल नवाज, मोहम्मद इमरान के रूप में की गई है, जबकि जावेद को गिरफ्तार कर लिया गया है.

देश से लश्कर के लिए आतंकियों की भर्ती करने में किया जाता था धन का इस्तेमाल
एनआईए की जांच से पता चला है कि जावेद उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के खामपुर गांव के मूल निवासी हैं. अधिकारी ने कहा कि वह कथित रूप से आतंकवादी संगठन लश्कर से जुड़ा हुआ है और 2017 में सऊदी अरब से मुजफ्फरनगर तक हवाला चैनलों के माध्यम से धन की व्यवस्था करने में शामिल था, जो नईम को मिला था. एनआईए की जांच में आगे पता चला है कि आतंकी फंड का इस्तेमाल देश के विभिन्न हिस्सों से लश्कर के लिए आतंकवादियों की भर्ती करने और विदेशी नागरिकों और पर्यटकों सहित नरम लक्ष्यों की पहचान करने के लिए किया जाता था. अधिकारी ने कहा कि आपराधिक साजिश और देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.यह भी पढे़ं - 

ईरान को परमाणु समझौते की प्रतिबद्धताओं के पूर्ण कार्यान्वयन पर लौटना होगा: EU

महाराष्ट्र में सरकार गठन पर भाजपा 'वेट एंड वाच' मोड में: सुधीर मुनगंतीवार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरनगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 4:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर