मुस्लिम महिला प्रोफेसर का JNU प्रशासन पर प्रताड़ना का आरोप, अल्पसंख्यक आयोग ने भेजा नोटिस

इस महिला प्रोफेसर का आरोप है कि उसे मुस्लिम होने के कारण JNU में प्रताड़ित किया जाता है. अल्पसंख्यक आयोग ने जेएनयू के रजिस्ट्रार को इस संदर्भ में नोटिस भेजा है.

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 9:54 PM IST
मुस्लिम महिला प्रोफेसर का JNU प्रशासन पर प्रताड़ना का आरोप, अल्पसंख्यक आयोग ने भेजा नोटिस
महिला ने शिकायती पत्र में अपने डिपार्टमेंट के डायरेक्टर का विशेष तौर पर जिक्र किया गया है.
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 9:54 PM IST
दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने जेएनयू की एक महिला प्रोफेसर की शिकायत पर यूनिवर्सिटी प्रशासन को नोटिस भेजा है. इस महिला प्रोफेसर का आरोप है कि उसे मुस्लिम होने के कारण JNU में प्रताड़ित किया जाता है. अब अल्पसंख्यक आयोग ने जेएनयू के रजिस्ट्रार को इस संदर्भ में नोटिस भेजा है. महिला ने शिकायती पत्र में अपने डिपार्टमेंट के डायरेक्टर का विशेष तौर पर जिक्र किया गया है. महिला का आरोप है कि यह सब कुछ जेएनयू के वाइस चांसलर की जानकारी में हो रहा है.

महिला प्रोफेसर ने दिए कई सबूत
महिला प्रोफेसर ने अपनी बात साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत दिए हैं. उनकी सैलरी अप्रैल महीने से बिना कारण बताए बंद कर दी गई है. उन्हें क्लासेज नहीं लेने दी जा रही हैं और न किसी एम.फिल या पीएचडी स्टूडेंट को सुपरवाइज करने दिया जा रहा है. यहां तक कि उन्हें ऑफीशियल ईमेल आईडी भी नहीं इस्तेमाल करने दी जा रही है.

2013 में आईं जेएनयू

साल 2013 में जेएनयू ज्वाइन करने से पहले महिला प्रोफेसर हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में चार साल काम कर चुकी हैं. इससे पहले भी उनकी एक बार सैलरी रोकी जा चुकी है, तब उन्हें हाईकोर्ट जाना पड़ा था. उनका आरोप है कि जो छात्र उन्हें अपने पीएचडी सुपरवाइजर के तौर पर चुनना चाहते हैं, उन पर दबाव बनाया जाता है. उनका कहना है कि यह सब इसलिए किया जा रहा है, जिससे वो युनिवर्सिटी छोड़ दें. उन्होंने अल्पसंख्यक आयोग को बताया कि प्रताड़ना का स्तर इतना बढ़ चुका है कि कई बार आत्महत्या के बारे में भी सोच चुकी हैं.

हो सकती है एफआईआर दर्ज
आयोग का कहना है कि महिला प्रोफेसर की बातों से प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि उन्हें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है. अब आयोग ने जेएनयू के रजिस्ट्रार को नोटिस भेजकर 1 अगस्त तक जवाब देने के लिए कहा है. अगर जवाब नहीं दिया जाता है तो रजिस्ट्रार, वाइस चांसलर और सेंटर के हेड के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगी.
Loading...

ये भी पढ़ें:

'AAP छोड़कर BJP में पहुंचे दो विधायकों पर कार्रवाई नहीं'

साक्षी को मिल रही जान से मारने की धमकी! जांच में जुटी साइबर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 19, 2019, 9:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...