लाइव टीवी

दिल्ली-NCR सहित देश की इन जगहों पर मिल रहा है 22 से 24 रुपये प्रति किलो प्याज

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: December 2, 2019, 4:09 PM IST
दिल्ली-NCR सहित देश की इन जगहों पर मिल रहा है 22 से 24 रुपये प्रति किलो प्याज
देश के कई हिस्सों में प्याज 100 रुपये प्रति किलो बिक रहा है.

भारत सरकार (Indian Government) के उपक्रम नैफेड (NAFED) और नेशनल कॉपरेटिव कंज्यूमर फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (NCCF) ने देशभर में फैले अपने स्टोर और ऑफिसेज में 22 से 24 रुपये प्रति किलो की दर से प्याज (Onion) बेचना शुरू कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2019, 4:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्याज की बढ़ती कीमतों (Onion Prices) के बीच आपके लिए राहत की खबर है. एक ओर जहां देश के कई हिस्सों में प्याज 100 रुपये प्रति किलो बिक रहा है. वहीं भारत सरकार ने भी अपने कई उपक्रमों के जरिए सस्ती दरों में प्याज मुहैया कराना शुरू कर दिया है. नैफेड (NAFED) के आउटलेट पर प्याज 24 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिल रहा है. लेकिन, सस्ता प्याज पाने के लिए आपको 2 से 4 घंटे तक का इंतजार करना पड़ सकता है. वहीं उपभोक्ता कार्य, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय (Consumer Affairs, Food and Public Distribution Ministry) की तरफ से भी दिल्ली के अलावा देश के अलग-अलग हिस्सों में 22 रुपये प्रति किलो की दर से प्याज बेचा जा रहा है. ऐसे में आप भी महंगा प्याज छोड़कर सरकार के बताए स्थानों पर सस्ती दर पर प्याज की खरीदारी कर सकते हैं. केंद्र सरकार मदर डेयरी के सफल के जरिए भी 23 रुपये 90 पैसे किलो में प्याज मुहैया करवा रही है.

नेफेड और एनसीसीएफ बेच रही है सस्ती प्याज

भारत सरकार के उपक्रम नेशनल कॉपरेटिव कंज्यूमर फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (National Cooperative Consumers Federation of India Limited) ने देशभर में फैले अपने स्टोर और ऑफिस स्टोर में 22 रुपये प्रति किलो की दर से प्याज बेचना शुरू किया है. एनसीसीएफ (NCCF) ने दिल्ली के चार जगहों पर 22 रुपये किलो की दर से प्याज बेच रहा है. इसकी एक गाड़ी कृषि भवन के सामने प्याज बेच रही है, जबकि दूसरी गाड़ी दिल्ली की झुग्गी-झोपड़ियों में घूम-घूम कर प्याज बेच रही है. इसके साथ ही एनसीसीएफ, अपने ऑफिस हौज खास और संचार भवन स्थित स्टोर में भी प्याज बेच रही है.

राज्य सरकारों के साथ भारत सरकार भी प्याज बेचना शुरू कर दिया है
राज्य सरकारों के साथ भारत सरकार ने भी जनता को राहत देते हुए रिआयती दरों पर प्याज बेचना शुरू किया है


एनसीसीएफ ने देशभर में फैली अपनी ब्रांच (शाखाओं) में भी प्याज बेचना शुरू कर दिया है. चंडीगढ़, देहरादून, जयपुर, रांची, पटना और जम्मू के लोग भी एनसीसीएफ के शाखाओं में जाकर प्याज 22 रुपये प्रति किलो के हिसाब से खरीद सकते हैं. मदर डेयरी के सफल स्टोर पर भी प्याज 23 रुपये 90 पैसे किलो की दर से बेची जा रही है. प्याज की कीमतों से परेशान दिल्लीवालों के लिए यह राहत भरी खबर है.

प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर दिल्ली में राजनीतिक घमासान
दूसरी तरफ प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर दिल्ली में राजनीतिक घमासान भी देखने को मिल रहा है. आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए राजनीतिक दलों ने प्याज को मुद्दा बना लिया है. बीजेपी और कांग्रेस ने जहां प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को घेरा है तो वहीं आम आदमी पार्टी केंद्र सरकार पर प्याज की सप्लाई समय पर नहीं देने का आरोप लगा रही है.आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से पत्र लिख कर प्याज को लेकर 10 सावल पूछे हैं. अपने पत्र में संजय सिंह ने पूछा है कि देश में प्याज की समस्या एक गंभीर संकट बनती जा रही है. जनता रो रही है और 32 हजार टन प्याज सड़ गई. संसद में पासवान जी बायन देते हैं कि 32 हजार मैट्रिक टन प्याज सड़ गई. जब ऐसा हुआ है तो इसकी वजह क्या है.

सोमवार को प्लास्टिक उद्योग जगत से जुड़े लोगों ने अपने-अपने सुझाव रखे
प्याज की बढ़ती कीमतों पर सरकार ने कई कदम उठाए हैं.


56 हजार मैट्रिक टन प्याज...
बता दें कि दिल्ली सरकार को बीते 5 नवंबर को ही केन्द्र सरकार ने पत्र लिखा था कि हमारे पास 56 हजार मैट्रिक टन प्याज है. संजय सिंह ने पूछा है, 'दिल्ली सरकार को कम प्याज क्यों पहुंच रहा है? देश में प्याज का संकट सरकार की गलत नीतियों के जरिए हुआ है, हमने केन्द्र सरकार को चिट्ठी लिखी है कि 32 हजार टन प्याज जब सड़ी तो उसके लिए कौन जिम्मेदार है. इसकी जांच पुख्ता होनी चाहिए, हम सीबीआई को चिट्ठी लिखेंगे कि इसकी जांच हो.'

ये भी पढ़ें: 

कांग्रेस की रैली में जब प्रियंका गांधी की जगह प्रियंका चोपड़ा के लगे नारे, देखें VIDEO

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 2:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर