तिहासिक 18वीं शताब्दी का ऐतिहासिक दरवाजे का छज्जा गिरा, बड़ा हादसा टला

ईस्ट ऑफ कैलाश स्थित इस दरवाजे से दिन के दौरान कई लोग इससे गुजरते हैं और इस जगह पर काफी भीड़ भी रहती है. गढ़ी गांव में स्थित यह दरवाजा ऐतिहासिक महत्व रखता है.

News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 3:57 PM IST
तिहासिक 18वीं शताब्दी का ऐतिहासिक दरवाजे का छज्जा गिरा, बड़ा हादसा टला
इस दौरान रेसिडेंट्स वेल्फेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहिंदर राय ने बताया कि इस दरवाजे से यहां रहने वाले लोग आते जाते रहते हैं.
News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 3:57 PM IST
दिल्ली के ईस्ट ऑफ कैलाश में स्थित एक 18वीं शताब्दी के दरवाजे का छज्जा अचानक गिर गया. यह छज्जा गुरुवार देर रात एक कार पर गिरा. गनीमत यह रही कि छज्जा देर रात को गिरा इसलिए कोई भी हताहत नहीं हुआ. बताया जा रहा है कि इस दरवाजे से दिन के दौरान कई लोग इससे गुजरते हैं और इस जगह पर काफी भीड़ भी रहती है. गढ़ी गांव में स्थित यह दरवाजा ऐतिहासिक महत्व रखता है.




बड़ा हो सकता था हादसा
इस दौरान रेसिडेंट्स वेल्फेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहिंदर राय ने बताया कि इस दरवाजे से यहां रहने वाले लोग आते जाते रहते हैं. यहां पर ‌दिन के समय काफी भीड़ रहती है. ऐसे में यदि यह छज्जा दिन में गिरा होता तो हादसा बड़ा हो सकता था.
Loading...




2016 से लगा रहे हैं ठीक करने की गुहार
पाल ने बताया कि इस छज्जे की मरम्मत को लेकर 2016 में इस क्षेत्र की सांसद मीनाक्षी लेखी को अवगत भी करवाया था. जिसके बाद उन्होंने दिल्ली डवलपमेंट अथॉरिटी और ऑर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को पत्र लिखकर इस गेट की मरम्मत की भी बात की थी. लेकिन कभी भी इसे ठीक नहीं किया गया और न ही कोई आज तक इस गेट को देखने के लिए भी यहां पर आया.

ये भी पढ़ेंः CM अमरिंदर से नहीं बनी बात, सिद्धू ने छोड़ा मंत्री पद


सिद्धू और CM अमरिंदर के बीच खत्म नहीं हो रही टकरार
First published: July 20, 2019, 3:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...