कार के मड फ्लैप और बार कोड से पुलिस ने ऐसे सुलझाया रायसीना रोड हिट एंड रन केस

रायसीना रोड हिट एंड रन केस में घटना सीसीटीवी में कैद हो चुकी थी लेकिन उसमें काऱ का नंबर नजर नही आ रहा था, पुलिस के लिए काले रंग की क्रेटा कार को तलाशने का सिर्फ एक ही सबूत था वो बार कोड.

Anand Tiwari
Updated: July 6, 2019, 7:21 PM IST
कार के मड फ्लैप और बार कोड से पुलिस ने ऐसे सुलझाया रायसीना रोड हिट एंड रन केस
दुर्घटनाग्रस्त कार
Anand Tiwari
Updated: July 6, 2019, 7:21 PM IST
30 जून सुबह 5:38 बजे दिल्ली के रायसीना रोड़ इलाके में एक काले रंग की क्रेटा कार ने स्कूटी सवार धीरज को पीछे से जोरदार टक्कर मारी और फिर कार चालक मौके से फरार हो गया. घटना सीसीटीवी में कैद हो चुकी थी लेकिन सीसीटीवी में काऱ का नंबर बिल्कुल नजर नही आ रहा था, अब पुलिस के लिए उस काले रंग की क्रेटा कार को तलाशने का सिर्फ एक ही सबूत था वो बार कोड. दिल्ली पुलिस ने अपनी सूझबूझ से इस छोटे से सबूत से ही इस वारदात का खुलासा कर दिया.

ऐसे हुआ था रायसीना रोड हिट एंड रन केस
30 जून दिल्ली के रायसीना रोड़ इलाके में सुबह 5 बजकर 38 पर ठीक ली मेरीडियन होटल के सामने काले रंग की क्रेटा कार ने स्कूटी सवार धीरज को पीछे से जोरदार टक्कर मारी और फिर काले रंग की क्रेटा कार का चालक कार लेकर मौके से फरार हो जाता है. घटना सीसीटीवी में कैद हो चुकी थी. घटना के 7 मिनट बाद 5 बजकर 45 मिनट पर 100 नंबर पर दिल्ली पुलिस को घटना की सूचना दी गई. मौके पर पुलिस पहुँचती है तो धीरज जमीन पर पड़ा मिलता है, जब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

पुलिस को मिला कार का मड फ्लैप और बार कोड

कार का बार कोड, code which helped in solving the case
कार का बार कोड


पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाती है और फिर मौकाए वारदात से पुलिस हिट करने वाली कार के टूटे शीशे और कार के पहिए पर लगा mud flap और उसका बार कोड बरामद होता है. चुकी सीसीटीवी में काऱ का नंबर बिल्कुल नजर नही आ रहा था, अब पुलिस के लिए उस काले रंग की क्रेटा कार को तलाशने का सिर्फ एक ही सबूत था वो बार कोड.

जांच दल ने शुरू की काले रंग की क्रेटा कार की तलाश
Loading...

डीसीपी मधुर वर्मा एक विशेष टीम जांच के लिए बनाते हैं जिसमे इंस्पेक्टर संजीव कुमार, SHO वेदप्रकाश समेत 70 पुलिस कर्मी अब दिल्ली एनसीआर में काले रंग की क्रेटा कार की तलाश शुरू करते हैं. पुलिस सबसे पहले मनिस्ट्री ऑफ ट्रांसपोर्ट के दफ्तर पहुँचती है जहा से पुलिस को पता चलता है कि देश भर में काले रंग की 22 हजार क्रेटा कार हैं. इनमें से दिल्ली-एनसीआर में कुल 2667 क्रेटा कार है.

फोरेंसिक टीम की मदद से मिला एक सुराग
अब पुलिस दिल्ली के 26 हुंडई कार डीलरों के पास तफ्तीश करना शुरू करती है. वही नई दिल्ली जिला, सेंट्रल जिला में लगे करीब 100 सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जाता है. पुलिस की तफ्तीश में फॉरेंसिक एक्सपर्ट की मदद भी ली जाती है और तब फॉरेंसिक टीम कई सीसीटीवी की मदद से एक सुराग तक पहुँचती है. बारीकी से हुई जांच में अब काले रंग की क्रेटा कार की नंबर प्लेट के केवल तीन डिजिट का पता चल पाता है जिसमे शुरुआती DL और आखरी डिजिट 6 था पर फिर उस बार कोड को तमाम डीलरों को दिखाया गया तो पता चला की काले रंग की दिल्ली में 313 गाड़ियां है.

पुलिस को मिली अहम लीड

अब उन 313 काले रंग की क्रेटा कार में उस बार कोड के बारे में तफ्तीश शुरू की गई. पुलिस की तफ्तीश कार के मालिक को अभी ढूंढ ही रही थी, फोरेंसिक एक्सपर्ट ने बताया की एक्सीडेंट करने वाली गाड़ी का शुरू का नंबर DL से शुरू होता है और आखरी नंबर 6 है, पुलिस के लिए ये लीड काफी हम साबित होती है पुलिस गाड़ियों के नंबर का मिलान करती है तो कुल दिल्ली की 21 ऐसी काली रंग की क्रेटा थी जिनका नंबर DL से शुरू होता है और आखरी नंबर 6 था, पुलिस ने अपनी जांच का दायर ओर आगे बढ़ाया तो पुलिस की जांच के दायरे में तीन ऐसी काले रंग की गाड़ियों आई जिनमे से किसी एक का ताल्लुक इस एक्सीडेट से था, पुलिस पहले दो लोगों के घर गयी तो उनकी भूमिका का इस एक्सीडेंट से कोई लेना देना नही था.

पुलिस को मिला आरोपी, कार भी बरामद
जिसके बाद अब पुलिस सीधे पटेल नगर उस पते पर पहुंच जाती है जो पुलिस का आखरी शक होता है और तब पुलिस को वहा भी वो कार नजर नहीं आती है पर जब काऱ मालिक से सख्त से पूछताछ की जाती है त पता चलता है की इस पते पर खरीदी गई कार मोती बाग में सर्विस सेंटर में मौजूद है. पुलिस के मुताबिक अब केस सुलझ गया था. वो कार पुलिस को मिल चुकी थी. और तब खुलासा होता है की इस हिट एंड रन की वारदात को बतौर एक FM चैनल में काम करने वाले RJ अंकित गुलाटी ने अंजाम दिया है.

अंकित ने बताया, कैसे हुई दुर्घटना
अंकित ने बताया कि, 'मैं नई दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में पार्टी करने के बाद सुबह करीब 5 बजे एक और हटल में पार्टी करने के लिए निकलता हूं. इसी बीच अपने मोबाईल फोन में उस होटल को गूगल मैप पर ढूंढता हूं. गूगल मैप से रास्ता खोजने के चलते मेरा कार से ध्यान हट गया और तब मेरी गाड़ी ने स्कूटी को हिट कर दिया.'

दुर्घटना के बाद मौके से भाग गया था आरोपी
पुलिस के मुताबिक घटना को अंजाम देने के बाद अंकित मौके से भाग गया. उसने घटना के तुरन्त बाद एक कार शो रुम के मालिक को फोन किया और बताया की मेरी गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ है. जिस्के बाद सबूत मिटाने के लिए अंकित ने गाड़ी की शो रूम में मरम्मत करवाई. पुलिस को आरोपी की कॉल डीटेल्ड उसके पार्टी में जश्न के वीडियो भी केस में आरोपी की भूमिका के लिए अहम सबूत है. और सबसे अहम वो बार कोड जिसने आरोपी को पुलिस तक पहुचा दिया.

ये भी पढ़ें -

रायसीना रोड हिट एंड रन केस में RJ अंकित गुलाटी गिरफ्तार

कांग्रेस अध्यक्ष के लिए सचिन पायलट का नाम रेस में सबसे आगे, ज्योतिरादित्य भी लिस्ट में

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 6, 2019, 5:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...