मां की तरह पड़ता है पुस्तकों का प्रभाव: प्रह्लाद सिंह पटेल

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा कि पुस्तकों का प्रभाव एक व्यक्ति पर किसी माता के शिशु पर प्रभाव के समान ही होता है और पुस्तकें पढ़ना स्वस्थ मस्तिष्क के लिए भोजन जैसे होता है.

News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 11:48 PM IST
मां की तरह पड़ता है पुस्तकों का प्रभाव: प्रह्लाद सिंह पटेल
मां की तरह पड़ता है पुस्तकों का प्रभाव: प्रह्लाद सिंह पटेल. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 11:48 PM IST
केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा कि पुस्तकों का प्रभाव एक व्यक्ति पर किसी माता के शिशु पर प्रभाव के समान ही होता है और पुस्तकें पढ़ना स्वस्थ मस्तिष्क के लिए भोजन जैसे होता है. वे बुधवार को दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी की मोबाइल लाइब्रेरिज का उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे.

प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा कि पुस्तकों का अध्ययन किए बिना सर्वांगीण विकास असंभव है. उन्होंने सचल पुस्तकालयों के माध्यम से पाठकों को महात्मा गांधी, गुरु नानक देव जैसे महान व्यक्तित्वों के विचारों वाली पुस्तकों को उपलब्ध कराने की जरूरत पर बल दिया. इस अवसर पर पटेल ने पुस्तकालय में उपस्थित पाठकों से संवाद किया तथा उनको अधिक से अधिक ज्ञान-विज्ञान की पुस्तकें पढ़ने की प्रेरणा दी.

प्रह्लाद सिंह पटेल ने ‘घर-घर दस्तक, घर-घर पुस्तक’ योजना के अंतर्गत दिल्ली क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर हिस्सों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पुस्तकालय पहुंचाने के उद्देश्य से सात सचल पुस्तकालय वाहनों (पांच बस और दो बोलेरो वाहनों) का उद्घाटन किया. दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. रामशरण गौड़ ने स्वागत भाषण में कहा कि आम जनता को पुस्तकालयों के प्रति आकर्षित करने के लिए अनेक प्रयास किए जा रहे हैं. पुस्तकालयों की संख्या बढ़ाई जा रही है और इसे अत्याधुनिक किया जा रहा है.

विशिष्ट अतिथि के रूप में उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर अवतार सिंह ने अपने वक्तव्य में दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी से संबंधित अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि सचल पुस्तकालय वाहनों के माध्यम से महान लोगों के संदेश जन-जन तक पहुंचने चाहिए. कार्यक्रम के अंत में दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी के महानिदेशक डॉ. लोकेश शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापन किया और राष्‍ट्रगान के साथ कार्यक्रम समापन हुआ.

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 31, 2019, 11:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...