व्हाट्सएप पर चल रहा है जिस्मफरोशी का धंधा, ऑनलाइन ऐसे तय होते हैं रेट

खुलेआम चल रहे इस धंधे को बंद करने के लिए अब दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने दूरसंचार मंत्रालय, भारत सरकार को नोटिस जारी किया है.

News18Hindi
Updated: September 1, 2019, 6:50 PM IST
व्हाट्सएप पर चल रहा है जिस्मफरोशी का धंधा, ऑनलाइन ऐसे तय होते हैं रेट
ऑनलाइन तय होत है कॉलगर्ल के रेट
News18Hindi
Updated: September 1, 2019, 6:50 PM IST
देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) के साथ-सात एनसीआर में धड़ले से जिस्मफरोशी (Prostitution) के धंधे के चलने की खबर आ रही है. पुलसि को मिला सूचना के आधार पर गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियाबाद में व्हाट्सएप  के जरिए जिस्मफरोशी खेल बखूबी चलाया जा रहा है. व्हाट्सएप पर ही कस्टमर से सीधा संपर्क कर, लड़कियों का मोलभाव किया जाता है. खुलेआम चल रहे इस धंधे को बंद करने के लिए अब दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने दूरसंचार मंत्रालय, भारत सरकार को नोटिस जारी किया है.

इन ऐप से अपराध को मिल रहा है बढ़ावा
आरोप है कि एप्लीकेशन तमाम वेबसाइटों के साथ-साथ गूगल प्ले स्टोर और एप्पल स्टोर पर भी उपलब्ध है और खुलेआम वेश्यावृत्ति को बढ़ावा दे रहा है. जानकारी के मुताबिक एक मोबाइल ऐप के जरिए एस्कॉट्र्स सर्विसेज, स्ट्रिपर्स, कॉल गल्र्स उपलब्ध कराए जाने के विज्ञापन दिए जा रहे हैं. दिल्ली महिला आयोग का कहना है कि ऐसे एप्लीकेशन के जरिये महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को बढ़ावा मिलता है.

पुलिस से की FIR दर्ज करने की मांग

दिल्ली पुलिस को भेजे गए नोटिस में महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने पुलिस से तुरंत एफआईआर दर्ज करने को कहा है. इसके अलावा आयोग ने जांच रिपोर्ट के साथ ही मामले में गिरफ्तारी की जानकारी मांगी है. उन्होंने कहा कि बिना सख्त कार्रवाई के इस पर लगाम लगाना असंभव है, ऐसे में पुलिस तत्काल कार्रवाई करे.

ऐप के जरिए तय होते हैं लड़कियों के रेट
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष  ने कहा कि यह बहुत ही शर्मनाक बात है कि एक एप्लीकेशन जो वेश्यावृति को बढ़ावा दे रहा है, इंटरनेट, प्ले स्टोर व एप्पल स्टोर पर खुलेआम उपलब्ध है. यहां तक कि एप्लीकेशन के जरिये वेश्याओं के रूप में नाबालिग स्कूली लड़कियों को भी शामिल किया गया है. पुलिस को तुरंत एफआइआर दर्ज करनी चाहिए और दूरसंचार मंत्रालय को इसे तुरंत बंद करना चाहिए.
Loading...

लोकैंटो ऐप पर लगे रोक
महिला आयोग की तरफ से दी गई शिकायत में कहा है कि यह लोकैंटो ऐप (Locanto App) एंड्रायड और एप्‍पलप ऐप स्टोर्स के साथ इंटरनेट पर व्यापक रूप से उपलब्ध है. इसी के साथ यह ऐप खुलकर वेश्यावृत्ति को बढ़ावा दे रहा है. बता दें कि एक मोबाइल एप के जरिये एस्कॉट्र्स सर्विसेज, स्ट्रिपर्स, कॉलगर्ल्‍स उपलब्ध कराए जाने के विज्ञापन दिए जा रहे हैं. दिल्ली महिला आयोग का कहना है कि ऐसे एप्लीकेशन के जरिये महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों को बढ़ावा मिलता है. ऐसे में इस पर रोक लगनी चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 1, 2019, 6:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...