केजरीवाल सरकार की इस योजना से छात्रों की बदली किस्‍मत!

दिल्ली की केजरीवाल सरकार की ओर से पहले साल लागू की गई योजना के पांच हजार छात्रों के लक्ष्य में साल 2018-19 में कुल 4953 छात्रों ने विभिन्न परीक्षाओं के तहत कोचिंग ली थी.

Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 11:12 PM IST
केजरीवाल सरकार की इस योजना से छात्रों की बदली किस्‍मत!
दिल्ली सरकार की 'जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना' रही सुपर‍हिट. (पीटीआई)
Rachna Upadhyay
Rachna Upadhyay | News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 11:12 PM IST
पापा कहते हैं कि बड़ा नाम करेगा. जी हां, हर बच्चे की ख्वाहिश होती है कि वह बड़ा होकर अपने मां-बाप का नाम रोशन करें और इसी को लेकर बच्चे प्रतियोगी परीक्षाओं में भी बैठते हैं. बच्चों के सपने पूरे करने के लिए भी दिल्ली सरकार बच्चों को कोचिंग देने का काम कर रही है, जिसके तहत दिल्ली सरकार की 'जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना' कोचिंग में मेडिकल और इंजीनियरिंग के नतीजे घोषित हो गए हैं.

5000 बच्चों ने ली थी कोचिंग
दिल्ली की केजरीवाल सरकार की ओर से पहले साल लागू की गई योजना के पांच हज़ार छात्रों के लक्ष्य में साल 2018-19 में कुल 4953 छात्रों ने विभिन्न परीक्षाओं के तहत कोचिंग ली थी, जिसमें 107 छात्रों ने मेडिकल और इंजीनियरिंग में कोचिंग की सुविधा ली और 13 छात्र इंजीनियरिंग तो 22 छात्रों ने मेडिकल की परीक्षा पास की. इसमें से 4 छात्रों ने IIT दिल्ली, NSUT दिल्ली, JEE दिल्ली और BAMS, BHU में अपने पहले ही प्रयास में पास किया और अब उन्हें दाखिला भी मिल चुका है.

निम्न वर्ग के बच्चों के सपने साकार करने में मदद कर रही सरकार

आपको बता दें कि दिल्ली सरकार की ओर से दी जाने वाली कोचिंग में अधिकांश बच्चे और छात्र निम्न आए वर्ग परिवारों से आते हैं जो महंगे कोचिंग संस्थानों की फीस नहीं भर सकते. ऐसे में दिल्ली सरकार द्वारा चलाई जाने वाली इस योजना से उन्हे पहले ही प्रयास में सफलता प्राप्त कर सपनों को साकार करने की नई उड़ान मिली है. आपको बता दें पिछले साल दिसंबर में कोचिंग की व्यवस्था शुरू की गई थी.

दिल्ली सरकार योजना से खुश हुए छात्र/ छात्राएं. (साभार-आम आदमी पार्टी)


कोचिंग से बड़ा आत्मविश्वास
Loading...

कोचिंग लेने वाले छात्रों का कहना है कि कोचिंग करने के बाद आत्मविश्वास बढ़ा और विश्वास हुआ कि वह भी परीक्षा में सफल हो सकते हैं. बच्चों का कहना है कि फीस महंगे होने से जहां वह बड़े-बड़े संस्थानों में जाकर कोचिंग नहीं ले पा रहे थे, ऐसे में दिल्ली सरकार की कोचिंग व्यवस्था ने उनकी मदद की है और उन्हें आगे बढ़ने का नया मौका दिया है. इस योजना का उद्देश्य एससी छात्रों के लिए यूपीएससी, डीएसएसएसबी, एसएससी, रेलवे भर्ती बोर्ड और बैंकों और बीमा कंपनियों द्वारा आयोजित परीक्षाओं के लिए छात्रों को तैयार करना और परीक्षा के पहले तैयारी के लिए मुफ्त प्री-कोचिंग देना है.

SSC परीक्षा के परिणाम का इंतजार
SSC परीक्षा के तहत कुल 3280 छात्रों ने योजना के तहत विभिन्न संस्थानों में कोचिंग ली. छात्रों और कोचिंग संस्थानों के अनुभव के आधार पर दिल्ली सरकार ने इस योजना को और बेहतर करने के लिए प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों को लाने और फीस में वृद्धि करने का प्रस्ताव तैयार कर लिया.

आपको बता दें कि कोचिंग की फीस अधिकतम तय राशि 40 हजार शुल्क के अलावा ECS के माध्यम से प्रति माह 2500 रुपए प्रति छात्र प्रदान किया जाता है,जिसे अब बढ़ाकर 1 लाख 50 हजार करने और कोर्स की अवधि भी बढ़ाए जाने का प्रस्ताव है.

ये भी पढ़ें-उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट: प्रियंका गांधी ने यूपी के नेताओं को दिया ये आदेश

सरकार ने पोंजी स्‍कीमों को बैन करने वाले विधयेक को दी मंजूरी, पुलिस को मिली ये बड़ी ताकत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 29, 2019, 10:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...